Saturday, Apr 20, 2019

मायावती के बाद घिरे सिद्धू , मुस्लिम मतदाताओं से की एकजुट होकर वोट करने की अपील

  • Updated on 4/16/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस के नेता और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने बिहार के कटिहार में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए मुसलमानों का नाम लेकर वोट मांगा। उन्होंने 64 प्रतिशत मुस्लिम मतदाताओं से मोदी के खिलाफ वोट करने की अपील की है।

दरअसल देश भर में आचार सहिंत लागू है। जिसके चलते कोई भी राजनेता अपनी चुनावी सभा में धार्मिक बातों के आधार पर वोट नहीं मांग सकता है। नवजोत सिंह सिद्धू खुले मंच से ऐसा करते हुए दिखे। 

आजम खान और मेनका गांधी पर भी चुनाव आयोग ने गिराई गाज

सिद्धू बिहार के कटियार लोकसभा की बलरामपुर विधानसभा को संबोधित कर रहे थे। इसी दौरान सिद्धू ने कहा कि आप की ऐसी लोकसभा है जहां अल्पसंख्यक भी बहुसंख्यक हैं। इसलिए अगर आप एकजुटता दिखाएंगे तो तारिक अनवर को कोई नहीं हरा सकता। 

 AAP नेता संजय सिंह ने कहा, मोदी- शाह की जोड़ी देश के सामने गंभीर संकट

बता दें कि इससे कुछ दिनों पहले यूपी के देवबंद में रैली के दौरान बसपा प्रमुख मायावती ने मुस्लिम समुदाय (Muslim Community) के लोगों से वोटों की अपील की थी। मायावती ने कहा था ‘मुस्लिम समुदाय के लोग अपना वोट बंटने ना दें और सिर्फ महागठबंधन के लिए वोट दें।’ मायावती पर धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने का आरोप लगा था और उन्होंने धर्म के नाम पर वोट मांगने के नियम का उल्लंघन है।

नफरत भरे भाषण को लेकर चुनाव आयोग की कार्रवाई से सुप्रीम कोर्ट असंतुष्ट

चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बसपा प्रमुख मायावती को सांप्रदायिक बयान देने के कारण अलग-अलग अवधि के लिए चुनाव प्रचार करने से प्रतिबंधित करने के बाद सपा नेता आजम खान और भाजपा नेता व केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी के प्रचार करने पर प्रतिबंध लगा दिया है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.