Thursday, Aug 16, 2018

पाकिस्तान से आए सिख तीर्थयात्री ऋषिकेश से लौटे, जाना चाहते थे हेमकुंड लेकिन नहीं था वीजा

  • Updated on 8/9/2018

ऋषिकेश/ब्यूरो। पाकिस्तान से आए सिख यात्रियों के जत्त्थे को आखिरकार हेमकुंड साहिब के दर्शनों के लिए जाने की अनुमति नहीं मिली। भारतीय दूतावास से जारी वीजा में उन्हें ऋषिकेश तक की ही अनुमति थी, जिस आधार पर प्रशासन ने उन्हें आगे नहीं जाने दिया। अनुमति न मिलने से निराश और नाराज श्रद्धालुओं का जत्था यात्रा किए बिना ही वीरवार को ऋषिकेश से अमृतसर लौट गया। जत्त्थे ने अपनी पीड़ा जाहिर करते हुए इस बात पर नाराजगी जताई कि सरकारें यात्रियों को अनुमति न देकर यात्रा के नाम पर बेवजह परेशान कर रही हैं। 

अमिताभ बच्चन के समधी की अस्थियां गंगा में विसर्जित, उमड़ी भीड़

ऋषिकेश स्थित हेमकुंड साहिब गुरुद्धारा के मैनेजर दर्शन सिंह ने बताया वीरवार की सुबह तक पाकिस्तानी श्रद्धालुओं को चमोली जिले में स्थित हेमकुंड साहिब जाने की अनुमति दूतावास से नहीं मिली। ट्रस्ट की ओर से की गईं कोशिशें भी काम नहीं आईं। श्रद्धालुओं के भारत में रुकने की आखिरी तारीख 24 अगस्त है। श्रद्धालुओं ने अन्य स्थानों पर भी तीर्थ करने जाना है। ऐसे में समय बीतता देख श्रद्धालुओं का जत्त्था आज देहरादून होते हुए अमृतसर के लिए रवाना हो गया। इस दौरान श्रद्धालुओं के चेहरों पर हेमकुंड साहिब के दर्शन न कर पाने को लेकर मायूसी देखी गई।

गौरतलब है कि बीते मंगलवार को पाकिस्तान से 39 सिख यात्रियों का जत्था चमोली जिले में स्थित हेमकुंड साहिब के दर्शनों के लिए ऋषिकेश पहुंचा था। ऋषिकेश से आगे जाने की अनुमति उनके वीजा में नहीं थी। इस कारण स्थानीय प्रशासन ने उन्हें ऋषिकेश से आगे की यात्रा पर जाने की अनुमति नहीं दी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.