Friday, Jun 05, 2020

Live Updates: Unlock- Day 5

Last Updated: Fri Jun 05 2020 03:34 PM

corona virus

Total Cases

227,376

Recovered

108,644

Deaths

6,367

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA77,793
  • TAMIL NADU27,256
  • NEW DELHI25,004
  • GUJARAT18,609
  • RAJASTHAN9,930
  • UTTAR PRADESH9,237
  • MADHYA PRADESH8,762
  • WEST BENGAL6,876
  • BIHAR4,452
  • KARNATAKA4,320
  • ANDHRA PRADESH4,112
  • HARYANA3,281
  • TELANGANA3,147
  • JAMMU & KASHMIR3,142
  • ODISHA2,608
  • PUNJAB2,415
  • ASSAM2,116
  • KERALA1,589
  • UTTARAKHAND1,153
  • JHARKHAND889
  • CHHATTISGARH773
  • TRIPURA646
  • HIMACHAL PRADESH383
  • CHANDIGARH304
  • GOA166
  • MANIPUR124
  • NAGALAND94
  • PUDUCHERRY90
  • ARUNACHAL PRADESH42
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS33
  • MEGHALAYA33
  • MIZORAM22
  • DADRA AND NAGAR HAVELI14
  • DAMAN AND DIU2
  • SIKKIM2
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
singapore bank dbs report indian modi govt can set new limit issuing bonds in foreign exchange

विदेश में सरकारी बांड बिक्री इस साल सीमित रख सकती है मोदी सरकार

  • Updated on 7/17/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सिंगापुर के बैंक डीबीएस की राय में भारत सरकार विदेशी बाजारों में विदेशी मुद्रा में अंकित बांड जारी करके कर्ज जुटाने की योजना के तहत पहले साल में 5 अरब डालर की सीमा तय कर सकती है। 

जया प्रदा ने आजम खान के चुनाव को दी चुनौती, नोटिस जारी

लेकिन बैंक का कहना है कि देश के लिए इससे अच्छा विकल्प होगा कि सरकार घरेलू बांड में विदेशी निवेश पर लगी सीमा में ढ़ील दे क्यों कि बाहर विदेशी मुद्रा बांड जारी करने में जाखिम ज्यादा है।

कपिल देव के नेतृत्व में कमेटी करेगी भारतीय कोच का सिलेक्शन

गौरतलब है कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने चालू वित्त वर्ष के बजट में विदेशी बाजारों में सरकारी बांड जारी कर कुछ कर्ज जुटाने की योजना की घोषणा की ताकि घरेलू बाजार में निजी क्षेत्र को कर्ज के लिए धन की कमी न पड़े। 

कर्नाटक संकट पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला खटक रहा है कांग्रेस को

डीबीएस का कहना है कि विदेश में विदेशी मुद्रा में अंकित बांड जारी करने के साथ कई संभावित जोखिम जुड़े हैं। विदेशी विनिमय दर में उतार-चढाव का भार सरकार पर पड़ेगा, हेजिंग पर खर्च की जरूरत के कारण ऐसे बांडों पर बचत कम होगी, घरेलू वित्तीय बाजार पर विदेशी बाजारों के उतार चढाव का जोखिम बढ जाएगा तथा स्थानीय रिण बाजार में विदेशी पूंजी प्रवाह प्रभावित होगा। 

#BJP ने कुंवर प्रणव चैंपियन को दिखाया बाहर का रास्ता, लहराए थे हथियार

डीबीएस की रपट में कहा गया है कि सरकार के ऐसे बांड से इस वित्त वर्ष में 10 अरब डालर तक जुटाने की अटकलें हैं पर उसकी राय में यह राशि 3 से पांच अरब डालर से ज्यादा नहीं हो सकती।

पीएम मोदी के चुनाव को चुनौती देने वाली याचिका पर टली सुनवाई

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.