Monday, Jan 24, 2022
-->
singapore summoned indian high commissioner on kejriwal tweet of new covid variant kmbsnt

सिंगापुर के नए वेरिएंट को लेकर केजरीवाल के ट्ववीट पर विवाद, विदेश मंत्री बोले- ये भारत का बयान नहीं

  • Updated on 5/19/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सिंगापुर के कोविड स्ट्रेन को लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा किए गए ट्वीट पर विवाद बढ़ता नजर आ रहा है। सिंगापुर सरकार ने कोविड के नए वेरिएंट की बात को सरासर गलत बताया है। साथ ही भारतीय हाईकमिश्नर को भी इस मामले में तलब किया है। अब विदेश मंत्रालय भी इस मामले को लेकर एक्टिव हो गया है। 

दरअसल दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया था। जिसमें उन्होंने लिखा था कि सिंगापुर में आया कोरोना का नया रूप बच्चों के लिए बेहद खतरनाक बताया जा रहा है, भारत में ये तीसरी लहर के रूप में आ सकता है। केंद्र सरकार से मेरी अपील है कि सिंगापुर के साथ हवाई सेवाएं तत्काल प्रभाव से रद्द हों। इसके साथ ही बच्चों के लिए भी वैक्सीन के विकल्पों पर प्राथमिकता के आधार पर काम हो। 

इसके बाद केजरीवाल की बात का जवाब देते हुए केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय उड़ाने मार्च 2020 से ही बंद हैं। लेकिन इस ट्वीट से सिंगापुर की सरकार अब नाराज हो गई है।

नवनीत कालरा को लेकर 'खान चाचा रेस्टोरेंट' तफ्तीश करने पहुंची पुलिस, हर एंगल से हो रही जांच

सिंगापुर दूतावास ने दिया ये जवाब
पहले सिंगापुर दूतावास की ओर से अरविंद केजरीवाल के ट्वीट का जवाब दिया गया है। जिसमें कहा गया है कि सिंगापुर में कोरोना का नया स्ट्रेन मिलने की बात पूरी तरह से गलत है। इसमें कोई सच्चाई नहीं है।  Phylogenetic परीक्षण से पता चला है कि सिंगापुर में हाल के हफ्तों में B.1.617.2 वैरिएंट बच्चों सहित कई लोगों में पाया गया है। 

सिंगापुर सरकार ने भारतीय हाईकमिश्नर को किया तलब
वहीं अब सिंगापुर सरकार ने भारतीय हाईकमिश्नर को तलब कर इस ट्वीट पर आपत्ति जताई है। इसके बाद विदेश मंत्रालय की ओर से इसका जवाब दिया गया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि दिल्ली के मुख्यमंत्री के पास कोविड के नए वैरिएंट या विमान नीति पर बोलने का कोई अधिकार नहीं है। 

होम आइसोलेशन के लिए दिल्ली सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन्स

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कही ये बात 
वहीं विदेश मंत्री एस जयशंकर ने भी इस विवाद पर एक ट्वीट के जरिए भारत का स्टैंड स्पष्ट किया है। उन्होंने लिखा है कि सिंगापुर और भारत दोनो देश कोरोना से जंग लड़ रहे हैं। सिंगापुर ने भारत की इस दौरान जो मदद की है उसके लिए उनका धन्यवाद। दिल्ली के मुख्यमंत्री का बायन भारत का बयान नहीं है। बता दें कि मंगलवार को सिंगापुर के स्वास्थ्यमंत्रालय की ओर से भी एक प्रेस रिलीज जारी कर सीएम केजरीवाल के दावे का खंडन किया गया था। 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.