Sunday, Dec 04, 2022
-->
Sisodia should be given Bharat Ratna, but Center is bothering: Kejriwal

सिसोदिया को भारत रत्न दिया जाना चाहिए, लेकिन केंद्र कर रहा परेशान: केजरीवाल

  • Updated on 8/23/2022

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सोमवार को कहा कि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया स्कूलों में शिक्षा के स्तर में सुधार के लिए देश के शीर्ष सम्मान, भारत रत्न के हकदार हैं, लेकिन इसके बजाय केंद्र उन्हें परेशान कर रहा है। सिसोदिया आबकारी नीति में कथित अनियमितताओं को लेकर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) के जांच के घेरे में हैं। दूसरी ओर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री एवं शिक्षा सहित कई अन्य विभागों का प्रभार संभालने वाले मनीष सिसोदिया ने एक सनसनीखेज दावा किया और कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उन्हें आम आदमी पार्टी (आप) तोडऩे पर मुख्यमंत्री का पद देने की पेशकश की थी। गुजरात दौरे पर आये केजरीवाल ने कहा, ‘‘न्यूयॉर्क टाइम्स ने हमारे शिक्षा मॉडल की सराहना की है।’’ गुजरात में इस साल के अंत में विधानसभा चुनाव होना है।  केजरीवाल ने संवाददाताओं से कहा कि सिसोदिया की सराहना करने के बजाय उन्हें निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘आपको शर्म नहीं आती कि सीबीआई से एक ऐसे व्यक्ति के खिलाफ छापा मरवाया जिसने पांच साल में चमत्कार कर दिया, उसने वह किया जो मौजूदा राजनीतिक दल 70 वर्षों में नहीं कर सके । उन्होंने सरकारी स्कूलों को सर्वश्रेष्ठ बनाया। ऐसे आदमी को भारत रत्न मिलना चाहिए।’’  

श्रीकांत त्यागी के पक्ष में नोएडा में ‘महापंचायत’,सोसाइटी के लोगों ने किया मौन विरोध

आप संयोजक केजरीवाल ने यह भी आशंका जतायी कि सिसोदिया को जल्द ही गिरफ्तार किया जा सकता है। उन्होंने कहा, ‘‘मनीष सिसोदिया को गिरफ्तार किया जा सकता है, किसे पता मुझे भी गिरफ्तार किया जा सकता है। यह सब गुजरात विधानसभा चुनाव को देखते हुए किया जा रहा है।’’  केजरीवाल ने दावा किया कि गुजरात के लोग दुखी हैं और राज्य में पिछले 27 वर्षों के भाजपा शासन के अहंकार का खामियाजा भुगत रहे हैं।  उन्होंने वादा किया कि राज्य में आम आदमी पार्टी (आप) की सरकार बनने पर गुजरात के लोगों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा प्रदान की जाएगी। दिल्ली सरकार की शराब नीति का बचाव करते हुए केजरीवाल ने कहा कि उन्हें इसे बदलने के लिए मजबूर किया गया। उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली में कुल 850 (शराब) की दुकानें खोलनी थी लेकिन 350 दुकानें ही खुल सकीं, 500 दुकानें नहीं खुल सकीं। केंद्र और तमाम एजेंसियों ने जिस तरह से हमारे अधिकारियों पर दबाव बनाना शुरू किया, उन्होंने नयी दुकानों की नीलामी के लिए मना कर दिया। एलजी (उपराज्यपाल), पुलिस और केंद्रीय एजेंसियां दबाव बना रही थीं। नीति बहुत अच्छी है और हम किसी से भी बहस के लिए तैयार हैं।  

 

इस बीच, गुजरात का दौरा कर रहे सिसोदिया ने दावा किया कि भाजपा ने आप को तोडऩे पर उन्हें मुख्यमंत्री पद की पेशकश की। सिसोदिया ने अहमदाबाद में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि वह तब हैरान रह गए जब एक व्यक्ति उनके पास यह संदेश लेकर आया कि उनके लिए भाजपा की ओर से ‘‘दो प्रस्ताव’’ हैं। आप नेता ने दावा किया, ‘‘संदेश वाहक ने कहा कि एक प्रस्ताव यह है कि सीबीआई-ईडी (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो-प्रवर्तन निदेशालय) द्वारा आपके खिलाफ दर्ज सभी बड़े मामले वापस ले लिए जाएंगे। दूसरी पेशकश यह थी कि मैं पार्टी तोड़ दूं और वे मुझे मुख्यमंत्री बनाएंगे।’’   

तेलंगाना के मंत्री केटीआर ने ‘परिवारवाद’ को लेकर अमित शाह पर निशाना साधा 

  सिसोदिया ने कहा, ‘‘मैंने उन्हें स्पष्ट राजनीतिक जवाब दिया और कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मेरे राजनीतिक गुरु हैं और मैंने उनसे राजनीति सीखी है। मैं मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री बनने के लिए राजनीति में नहीं आया हूं।’’      आप संयोजक केजरीवाल और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री सिसोदिया सोमवार को गुजरात के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे। उनका यह दौरा 2021-2022 के लिए दिल्ली की आबकारी नीति में कथित अनियमितताओं और केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा सिसोदिया के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने को लेकर जारी विवाद के बीच हो रहा है।  सिसोदिया ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘मैं एक ईमानदार व्यक्ति हूं। वास्तव में, मैं अरविंद केजरीवाल टीम के साथ इसलिए हूं क्योंकि मैं एक ‘‘कट्टर ईमानदार’’ व्यक्ति हूं। इन फर्जी मामलों में कोई दम नहीं है और आप मुझे इनसे धमका नहीं सकते।’’      सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली के स्कूलों में शिक्षा में सुधार करना उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने कहा, ‘‘मैं यहां यह सुनिश्चित करने के एक सपने के साथ हूं कि दिल्ली के हर बच्चे को अच्छी शिक्षा मिले। आज मैं देश के हर बच्चे को सर्वोत्तम शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए काम कर रहा हूं, चाहे वह गरीब का बच्चा हो या अमीर का। यह मेरा सपना है और मैं इस सपने पर काम कर रहा हूं।’’  उन्हें संदेश भेजने वालों के नाम के बारे में पूछे जाने पर, सिसोदिया ने कहा, ‘‘जिस व्यक्ति ने मुझे संदेश भेजा है, उसने मुझे बताया कि वह पश्चिम बंगाल में शुभेंदू अधिकारी, असम में हिमंत विश्व शर्मा, नारायण राणे और अन्य को भाजपा में शामिल करने के पीछे था। उसने कहा कि मैं उस पर भरोसा कर सकता हूं क्योंकि वह लोगों को भाजपा में शामिल कराने पर काम करता है।’’  

सिसोदिया के खिलाफ ‘लुकआउट’ नोटिस को लेकर AAP ने साधा मोदी सरकार पर निशाना

  •  

    हालांकि सिसोदिया ने संदेशवाहक के नाम का खुलासा नहीं किया। नयी दिल्ली में, भाजपा ने केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री सिसोदिया पर एक नया हमला बोला और आरोप लगाया कि आबकारी नीति को लेकर गठित एक समिति द्वारा की गई सिफारिशों की अनदेखी कर आम आदमी पार्टी (आप) सरकार ने नयी नीति लागू की। नयी दिल्ली में पार्टी मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए, भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा कि भ्रष्टाचारों के आरोपों पर केजरीवाल की चुप्पी दर्शाती है कि वह ‘‘कट्टर बेईमान’’ हैं। इस मुद्दे पर आप या दिल्ली सरकार से तत्काल प्रतिक्रिया उपलब्ध नहीं थी। उन्होंने कहा कि केजरीवाल के‘अहंकार’को दिल्ली की जनता चकनाचूर कर देगी, जिनके सवालों का वह जवाब नहीं दे रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘‘इससे पहले, हमने उन्हें आरोपों का जवाब देने के लिए 24 घंटे का समय दिया था। अगर वह ‘‘कट्टर ईमानदार’’ हैं तो वह सवालों का जवाब क्यों नहीं दे रहे हैं। केवल एक ट््वीट आया है जो अर्थहीन है। हम फिर से केजरीवाल को दिल्ली आबकारी नीति में भ्रष्टाचार के आरोपों पर सवालों के जवाब देने के लिए 24 घंटे का समय देते हैं।’’  

 

 

comments

.
.
.
.
.