Monday, Aug 15, 2022
-->
sitharaman bjp said ukraine crisis after corona poses challenge to india development rkdsnt

सीतारमण बोलीं- कोरोना के बाद यूक्रेन संकट से भारत के विकास के सामने खड़ी हुई चुनौती

  • Updated on 2/25/2022

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने यूक्रेन पर रूस के हमले से उपजे हालात को द्वितीय विश्व युद्ध के बाद वैश्विक शांति के लिए उत्पन्न सबसे बड़ी चुनौती बताते हुए शुक्रवार को कहा कि हालिया घटनाक्रम ने भारत के विकास के सामने बाधा खड़ी कर दी है।

पीएम मोदी की पुणे यात्रा के दौरान प्रदर्शन करेंगे MVA में शामिल तीनों दलों के कार्यकर्ता

सीतारमण ने ‘एशिया इकोनॉमिक डायलॉग’ को संबोधित करते हुए कहा कि मानवीय कल्याण के लिए किसी तरह की अड़चन या अशांति के बगैर एक अनुकूल परिवेश की जरूरत है ताकि कोविड-19 महामारी के बाद आर्थिक पुनरुद्धार को टिकाऊ बनाया जा सके। 

यूक्रेन में फंसे केरल, हरियाणा के बाद ओडिशा के छात्रों की सुरक्षा को लेकर शाह से लगाई गुहार

उन्होंने कहा, 'भारत के विकास के समक्ष दुनिया में उत्पन्न हो रही नई चुनौतियों से बाधाएं खड़ी होने वाली हैं। शांति को खतरा पैदा हुआ है और द्वितीय विश्व युद्ध के बाद दुनिया ने इस स्तर के और ऐसे असर वाले किसी युद्ध का अनुभव शायद नहीं किया है।'

रूस के यूक्रेन पर हमले के बाद कच्चे तेल के दाम बढ़े, सरकार ने रुख किया साफ

सीतारमण ने विदेश मंत्रालय और पुणे इंटरनेशनल सेंटर की तरफ से आयोजित इस सम्मेलन में कहा, 'उम्मीद है कि जल्द-से-जल्द शांति बहाली होगी जिसके आधार पर आर्थिक पुनरुद्धार टिकाऊ हो सकता है।' 

टेरर फंडिंग : कोर्ट ने NIA के पूर्व एसपी नेगी, मानवाधिकार कार्यकर्ता परवेज को भेजा जेल

उन्होंने रूस और यूक्रेन के बीच छिड़ी इस जंग से भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के आर्थिक पुनरुद्धार पर गहरा असर पडऩे की आशंका जताते हुए कहा कि मानवता के कल्याण के लिए पुनरुद्धार का टिकाऊ होना जरूरी है जो किसी तरह की बाधा से भी मुक्त हो। वित्त मंत्री ने यह बात यूक्रेन पर रूस के सैन्य हमले के एक दिन बाद कही है। इसकी वजह से समूची दुनिया के बाजारों में उठापटक देखी जा रही है।      

BJP शासित साउथ MCD ने स्कूलों में धार्मिक पोशाक पहनने पर लगाई रोक

  •  
comments

.
.
.
.
.