Saturday, May 08, 2021
-->
situation on lac in ladakh extremely tense india china troops are very close pragnt

LAC पर स्थिति तनावपूर्ण, आमने- सामने आई भारत- चीनी सेना

  • Updated on 9/9/2020

नई दिल्ली/ शेषमणि शुक्ल। पूर्वी लद्दाख (Ladakh) सेक्टर में सीमा पर स्थिति बेहद तनावपूर्ण बन गई है। भारत (India) और चीन (China) की सेना एक-दूसरे के काफी करीब आमने-सामने आ चुके हैं। सूत्रों के मुताबिक एक-दूसरे से करीब 200 मीटर की दूरी बची है।

सीमा तनाव के बीच चीन की भारत को धमकी, बोला- LAC पर की गलती तो होगा 1962 जैसा अंजाम

एक दूसरे के बेहद करीब हैं दोनों सेना
सूत्रों के मुताबिक रेजंग ला माउंटेन के पास फॉरवर्ड पोजीशन पर दोनों सेनाएं एक-दूसरे के काफी करीब आ गई हैं। चीन के सैनिक पैंगोंग त्सो (Pangong Tso) झील के दक्षिण में कम से कम चार लोकेशन पर एक-दूसरे के आमने-सामने आ गए हैं। हालांकि दोनों ओर के सैनिक अपने-अपने ही इलाके में बने हुए हैं। कुछ रिपोर्ट के मुताबिक पैंगोंग त्सो झील पर पिछले करीब एक सप्ताह में चीन ने झील के दक्षिण और उत्तरी बैंक के फिंगर एरिया में अपने सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है।

मॉस्को में बैठक से पहले चीन-भारत तनाव कम करने के लिए ले रहे हॉटलाइन का सहारा

चीन नें बढ़ाई सैनिकों की संख्या
चीन ने फिंगर 4 के पास सैनिकों की संख्या दोगुनी कर दी है। एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि चीन की सेना झील के उत्तरी बैंक के फिंगर एरिया में करीब 8 किलोमीटर तक अंदर आ गई है, जिसके बाद भारत फिंगर 4 से आगे नहीं बढ़ पाया है। इससे पहले भारतीय सैनिक फिंगर 8 तक गश्त कर सकते थे। एक अधिकारी ने बताया कि फिंगर 4 से 8 एरिया में चीन की पीएलए सैनिकों ने कब्जा कर लिया है।

भारत ने खोल दी चीनी दावों की पोल, PLA ने चलाई थीं उकसाने के लिए गोलियां

चीन ने तैनात किए टैंक
पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे स्पांगुर पास के करीब 15-20 टैंक तैनात कर दिया है। इसके साथ ही मॉल्डो इलाके में 5-7 हजार सैनिक तैनात किया है। चीनी सैनिकों की यह पोजीशन चुशूल सेक्टर के करीब है। सूत्र बता रहे हैं कि इस जगह चीन लगातार निर्माण कार्य कर रहा है। हालांकि भारतीय सेना भी अपनी पूरी तैयारी में है। इस वक्त भारतीय सैनिक जिस ऊंचाई पर हैं, वहां से चीन की हर हरकत साफ दिखाई दे रही है।

16000 फीट की ऊंचाई पर ITBP के जवानों का दिखा जश्न-ए-आजादी, देखें Video

भारत देगा चीन को करारा जवाब
भारत की ओर से सीमा विवाद को लेकर सख्त कदम उठाने का संकेत दिया गया है। सूत्रों ने बताया कि अगर ऊंचाई पर स्थित भारतीय सुरक्षा को चुनौती देने की चीन की ओर से कोई प्रयास किया गया तो भारत इसका करारा जवाब देगा। भारतीय सेना ने अपनी पोजीशन पर कंटीले तार लगाए हैं। भारत ने साफ कहा है कि इन तारों को पार करने की कोशिश की तो यह रेड लाइन क्रास करने जैसा होगा। मालूम हो कि सोमवार को दोनों सेनाओं के बीच इसी के चलते फायरिंग हुई थी।

गलवान को दोहराने धारदार हथियार लेकर आगे बढ़े थे चीनी सैनिक, भारतीय सेना ने खदेड़ा

काफी तनावपूर्ण स्थिति
भारतीय सेना की ओर से लगाए गए तार बाड़ को चीनी सैनिकों ने हटाने की कोशिश की, जिसके बाद स्थिति काफी तनावपूर्ण बन गई। भारतीय सैनिकों की सख्त चेतावनी के बाद चीनी सैनिक वहां से हटे, लेकिन इस बीच उनकी ओर से हवाई फायरिंग की। 1975 के बाद पहली बार भारत-चीन सीमा पर गोलियां चलीं। हालांकि चीन ने आरोप लगाया कि फायरिंग भारत की ओर से की गई। फिलहाल स्थिति को सामान्य बनाने के लिए भारत ने बातचीत का रास्ता खुला रखने पर जोर दिया है। इस दौरान एक ब्रिगेड कमांडरों की बैठक हुई। वीरवार को विदेश सचिव स्तर पर भी बातचीत प्रस्तावित है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.