Friday, Jan 24, 2020
situation-worsens-in-assam-removed-guwahati-commissioner

CAB: असम में हालात लगातार हो रहे खराब, हटाए गए गुवाहटी कमिश्नर

  • Updated on 12/12/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। नागरिकता विधेयक को लेकर असम में हालात लगातार चिंताजनक बने हुए हैं और अनिश्चितकालीन कर्फयू तथा इंटरनेट सेवाएं बंद होने से सैकड़ों यात्री गुवाहाटी (Guwahati) हवाई अड्डे पर फंसे हुए हैं। शहर से 30 किलोमीटर दूर बोरझार स्थित लोकप्रिय गोपीनाथ बारदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के भीतर और बाहर छात्रों से लेकर कामकाजी पेशेवर, बुजुर्गों से लेकर महिलाओं तक की भीड़ देखी जा सकती है। इसी बीच गुवाहटी के कमिश्नर दीपक कुमार को हटा दिया गया है। 

PM के ट्वीट पर कांग्रेस का पलटवार, कहा- असम के लोग आपका संदेश नहीं पढ़ सकते, इंटरनेट बंद है

असम पुलिस की हुई तैनाती 
सुरक्षाबल हवाई अड्डे पर कड़ी नजर रखे हुए हैं। असम पुलिस (Assam Police) और कमांडो की तैनाती की गई है। हवाई अड्डा परिसर के भीतर प्रीपेड टैक्सी काउंटर पर सेवाएं बंद हैं। आईआईटी गुवाहाटी से सिविल इंजीनियरिंग में एमटेक कर रही पूजा शर्मा और पीएचडी कर रहे हर्षल कावले भी हवाई अड्डे पर फंसे हुए हैं। पूजा ने कहा, ‘‘पता नहीं अमीनगांव में मैं कैंपस तक कैसे जाऊंगी। मैंने आईआईटी गुवाहाटी (IIT Guwahati) अधिकारियों से बात करने की भी कोशिश की लेकिन सड़कों पर वाहनों का प्रवेश निषेध है तो मैं यहां फंसी हुई हूं।’’

CAB के विरोध में बांग्लादेश के विदेश मंत्री ने रद्द किया भारत का तीन दिवसीय दौरा

सुबह की फ्लाइट से जयपुर से यहां आई कंचन पारीख ने कहा, ‘‘मेरे माता-पिता गुवाहाटी में रहते हैं। दो साल पहले शादी के बाद मैं जयपुर (Jaipur) बस गई।’’ उसने कहा, ‘‘मैंने कुछ दिन पहले अपने टिकट बुक किये थे लेकिन मेरी मां ने शहर के हालात को देखते हुए मुझे टिकट रद्द कराने को कहा। मैंने टिकट रद्द नहीं कराये क्योंकि विमान सेवाएं चालू थीं। मुझे नहीं पता था कि यहां हालात इतने खराब हैं। मैंने अपने पिता से संपर्क किया जो यहां दुपहिया वाहन से आये।’’

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ली अपनी पहली सेल्फी, लोगों ने की वायरल

मनमाने किराए वसूले जा रहे हैं
यात्रियों की परेशानी और बढ़ गई है क्योंकि स्थानीय टैक्सी चालक उनसे मनमाने किराये वसूल रहे हैं। ईटानगर (Itanagar), दीमापुर और आइजोल (Aizawl) जाने वाले कई यात्रियों के पास इंतजार के अलावा कोई चारा नहीं है। सैनिक उस्मान साब अपनी पत्नी और साढ़े तीन साल के बच्चे के साथ बेंगलुरू से आये हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं दीमापुर (Deemapur) में रहता हूं लेकिन पता नहीं गुवाहाटी रेलवे स्टेशन कैसे पहुंचूं।’’ दीमापुर के रहने वाले और जयपुर से एक शादी में शिरकत करके आये एक चार्टर्ड अकाउंटेंट अजीत जैन ने कहा, “मैं एक शादी के लिये जयपुर (Jaipur) गया था लेकिन ट्रेन रद्द हो गई। मैंने गुवाहाटी की फ्लाइट की टिकट कराई। अब मैं दीमापुर जाने का जरिया तलाश रहा हूं।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.