Monday, Dec 16, 2019
sixth day of hearing on ayodhya vivad in supreme court

अयोध्या विवाद: रामलला के वकील ने कहा, 'अर्ली ट्रैवल्स इन इंडिया' में रामजन्म भूमि का जिक्र

  • Updated on 8/14/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में अयोध्या जमीन विवाद (Ayodhya) मामले में रोजाना सुनवाई चल रही है। 5 अगस्त से शुरू हुई इस सुनवाई का छठा दिन है। प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई (CJI Ranjan Gogoi) की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ राम जन्मभूमि- बाबरी मस्जिद (Ram Mandir-Babri Masjid) भूमि विवाद मामले की सुनवाई कर रही है। ‘राम लला विराजमान’ के वकील सी. एस. वैद्यनाथन (CS Vaidyanathan) अपनी दलीलें पेश कर रहे हैं।

राम लला के वरिष्ठ वकील वैद्यनाथन ने पीठ से कहा कि हिंदुओं का विश्वास है कि भगवान राम की जन्मस्थली अपने आप में ही देवता है, इसलिए कोर्ट को इसमें कोई तार्किक नहीं देखना चाहिए। वैद्यनाथन ने बताया कि फैंच ट्रैवलर विलियम फिंच की एक किताब के मुताबिक अकबर और जहांगीर के समय में वह अयोध्या गए थे। उन्होंने अपनी किताब में रामजन्म भूमि के अस्तित्व का जिक्र किया है लेकिन उनकी किताब में कहीं भी किसी मस्जिद की उपस्थिति का जिक्र नहीं है। वकील ने आगे कहा कि विलियम फिंच की किताब 'अर्ली ट्रैवल्स इन इंडिया' में अन्य अंग्रेजी यात्रियों का भी जिक्र है। उन्होंने अपने लेखों में अयोध्या और रामजन्म भूमि के बारे में बताया है।

राम लला विराजमान ने अदालत से मंगलवार को कहा कि भगवान राम की जन्मस्थली अपने आप में देवता है और मुस्लिम 2.77 एकड़ विवादित जमीन पर अधिकार होने का दावा नहीं कर सकते क्योंकि संपत्ति को बांटना ईश्वर को ‘नष्ट करने’ और उसका ‘भंजन’ करने के समान होगा। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.