Saturday, Jul 20, 2019

IIT Delhi में शुरू हुआ स्मार्ट इंडिया हैकथन , 253 टीमें शामिल

  • Updated on 7/9/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी (IT) दिल्ली (Delhi) में स्मार्ट इंडिया हैकथन 2019 के ग्रैंड फिनाले में देशभर के 178 कॉलेजों की 250 टीम के 2000 स्टूडेंट्स में हिस्सा ले रहे हैं। आईआईटी में इसकी शुरुआत हुई, यह हैकथन 12 जुलाई तक चलेगा। स्मार्ट इंडिया हैकथन का यह हार्डवेयर एडिशन है, जिसमें स्टूडेंट्स देश की 124 परेशानियां का हल दे रहे हैं, जो 40 इंडस्ट्री, केंद्र सरकार के 9 मंत्रालय और कई सरकारी विभागों ने दी हैं।

2235 कॉलेजों की ओर से एंट्री भेजी गई
खासतौर पर कृषि, ग्रामीण विकास, फूड टेक्नॉलजी, कूड़े के निदान, साफ पानी, रोबॉटिक्स और ड्रोन, सुरक्षा, स्मार्ट शहर, स्मार्ट गाड़ियां, स्पोर्ट्स और फिटनेस आदि शामिल हैं। इस हैकथन के लिए पूरे देश से 2235 कॉलेजों की ओर से एंट्री भेजी गई थी। आईआईटी दिल्ली में 16 कॉलेज इस कॉम्पिटिशन में हिस्सा ले रहे हैं। 

इंजिनियरिंग का मतलब है कि दिक्कतों का हल निकालना
आपको बता दें कि यह हैकथन 9 राज्यों में चल रहा है। ग्रैंड फिनाले इस हैकथन का दूसरा पार्ट है, मार्च में इसका पहला पार्ट हुआ था। हैकथन का उद्‌घाटन एचआरडी मिनिस्टर (Minister) रमेश पोखरियाल ने किया। इस मौके पर आईआईटी के डायरेक्टर प्रफेसर वी रामगोपाल ने कहा, इंजिनियरिंग का मतलब ही है कि दिक्कतों का हल निकालना। जब स्टूडेंट्स एक टीम में रहकर समाज और इंडस्ट्री के लिए परेशानियां का हल खोजते हैं, तो उनकी समझ और सीख और ऊपर जाती है और यह हैकथन यही काम कर रहा है। 

स्मार्ट इंडिया हैकथन का यह तीसरा साल है, 2017 में इसमें 50 हजार स्टूडेंट्स, 2018 में एक लाख से कुछ कम और इस बार 1.2 लाख स्टूडेंट्स ने इसमें हिस्सा लिया है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.