Thursday, Mar 21, 2019

चलती मेट्रो में निकला धुआं यात्रियों में मचा हड़कंप, ब्लू लाइन हुई बाधित

  • Updated on 3/14/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। सबसे अधिक भीड़ भाड़ वाले मेट्रो ब्लू लाइन रूट पर आज दिन दहाड़े चलती मेट्रो के अंतिम कोच में धुंका निकलते देख यात्रियों में हड़कंप मच गया।

नोएडा की तरफ जा रहे इस मेट्रो में धुआं लगने की जानकारी प्रगति मैदान स्टेशन पर मिली और अक्षरधाम स्टेशन पर मेट्रो को यात्रियों से खाली करा लिया गया। इस दौरान ब्लू लाइन पर मेट्रो प्रभावित होने से हजारों यात्रियों को भारी परेशानी उठानी पड़ी। 

दिल्ली में अपनी पैठ मजबूत करेगी भाजपा, आज बुलाई बैठक

डीएमआरसी से मिली जानकारी के अनुसार द्वारका 21 से नोएडा की तरफ जा रही एक मेट्रो में दोपहर करीब 2:35 मिनट पर अंतिम कोच में धुआं निकलने की जानकारी मिली। धुआं देख यात्रियों में हड़कंप मच गया। बुजुर्गों व बच्चों व महिलाओं को सांस लेने में दिक्कत के साथ ही घबराहट भी होने लगी।

इसके साथ कोच में यात्रियों की चीख पुकार व शोर भी शुरू हो गया। यात्रियों ने तुरंत इसकी सूचना मेट्रो हेल्पलाइन व सीआईएसएफ को दी। इसके बाद मेट्रो कंट्रोल रूम ने इस टे्रन को अक्षरधाम स्टेशन रोककर पुरी मेट्रो को खाली करा लिया। इस दौरान अक्षरधाम स्टेशन पर भारी भीड़ जमा हो गई। 

कल से JNU में दाखिला प्रक्रिया शुरू, ऐसे करें आवेदन

यात्री एक दूसरे सही सलामत की जानकारी शेयर करते दिखे। गनीमत यह रही की समय रहते मेट्रो को खाली करा लिया गया और इसमें किसी यात्री को कोई नुकसान नहीं हुआ। घटना पीक आवर में होने की स्थिति में यात्रियों के लिए बड़ी परेशानी खड़ी हो सकती थी।  

डीएमआरसी ने घटनावाली मेट्रो को यमुना बैंक वक्र्सडिपो को भेज दिया और जांच के आदेश दे दिए है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी कई बार मेट्रो में धुआं निकलने और आग लगने की घटना हो चुकी है।

कांग्रेस ने किया यूपी, महाराष्ट्र के उम्मीदवारों का ऐलान, जानिए कौन कहां से लड़ेगा?

हालांकि डीएमआरसी ने अपनी ऑफिशियल ट्विटर एकाउंट पर घटना के बारे मेंं कोई जानकारी शेयर नहीं की। केवल माइनर डिले लिखकर खानापूर्ति कर दी। डीएमआरसी के अनुसार जांच के बाद पता चलेगा यह धुआं कैसे निकला। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.