Friday, Dec 09, 2022
-->
snow-on-peaks-of-uttarakhand-cold-wave-in-lower-areas

चोटियों पर हिमपात, निचले क्षेत्रों में शीत लहर- बदरीनाथ में जमी सात फीट बर्फ

  • Updated on 1/22/2020

गोपेश्वर/ब्यूरो। चमोली जिले में बार- बार हो रही बारिश और बर्फबारी से लोगों को राहत नहीं मिल पा रही है। मंगलवार को बदरीनाथ, हेमकुंड साहिब, जोशीमठ सहित ऊंचाई वाले इलाकों में फिर बर्फबारी हुई। इससे अब बदरीनाथ धाम में करीब 7 फिट बर्फ जम गई है। वहीं, निचले इलाकों में दिनभर धूप- छांव के कारण शीत लहर चलती रही।

नवम्बर माह से लगातार हो रही बर्फबारी और बारिश से चमोली जिला कड़ाके की ठंड की चपेट में है। निचले इलाकों में बारिश होने से दिक्कतें हो रही हैं। वहीं, ऊंचाई वाले 76 गांवों में ग्रामीणों की दिनचर्या पटरी पर नहीं लौट पाई है। बर्फ में चलकर ग्रामीण पेयजल, चारापत्ती और जलावन लकड़ी जैसी रोजमर्रा की जरूरतें पूरी कर रहे हैं।

बदरीनाथ धाम और हेमकुंड सहिब क्षेत्र बर्फबारी के कारण 7 से 10 फीट बर्फ की आगोश में हैं। ईराणी, धारकुमाला, डुमक और कलगोठ गांव में एक माह से अधिक समय से विद्युत आपूर्ति सुचारु नहीं हो पाई है। थराली-देवाल-मुंदोली, कुनारबैंड-घेस, उस्तोली-सरपाणी, परसारी-औली, गोपेश्वर-पोखरी और जोशीमठ-औली सड़क पर बर्फ जमी होने से वाहनों की आवाजाही नहीं हो पा रही है।

मौसम के बार-बार बदल रहे मिजाज से दूरस्थ गांवों में कुछ दिक्कतें हैं। अन्य स्थानों पर बिजली, पानी, संचार और आवाजाही की स्थिति में सुधार आया है। विभागीय अधिकारियों को हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहने को जिला प्रशासन ने निर्देश दिए हैं। -नंदकिशोर जोशी, आपदा प्रबंधन अधिकारी, चमोली।


रुड़की में कोहरे और शीतलहर में कांपे लोग

सुबह कोहरे के साथ शीतलहर चलने के कारण रुड़की में जनजीवन प्रभावित रहा। शीतलहर चलने के कारण एक बार फिर कंपकंपाने वाली ठंड ने लोगों को परेशान किया। अधिकतम तापमान दो डिग्री नीचे गिर गया। जिला प्रशासन की ओर से भी ठंड से बचने के लिए एडवाइजरी जारी की गई है।

आईआईटी के जल संशाधन विकास एवं प्रबंधन विभाग में संचालित ग्रामीण कृषि मौसम सेवा परियोजना के अनुसार मंगलवार को अधिकतम तापमान 14.5 और न्यूनतम 10 डिग्री रिकार्ड किया गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.