Wednesday, May 12, 2021
-->
social organizations demands pm narendra modi aurangabad train accident pragnt

सामाजिक संगठन ने की मांग, रेल हादसे में मारे गए मजदूरों के परिवारों को मिले 50- 50 लाख रुपए

  • Updated on 5/9/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। महाराष्ट्र (Maharashtra) के औरंगाबाद (Aurangabad) में पटरी पर सो रहे प्रवासी मजदूरों (Migrant Workers) के ऊपर से मालगाड़ी गुजरने से 16 की मौत हो गई है। इसके बाद सामाजिक संगठनों (Social Organizations) के एक समूह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को पत्र लिखकर औरंगाबाद ट्रेन हादसे में मारे गए लोगों के परिवारों को 50-50 लाख रुपए की अनुग्रह राशि प्रदान करने की मांग की।

Shahjahanpur: चलती ट्रेन से कूद गए 5 मजदूर, RPF ने पकड़कर भेज दिया क्वारंटाइन सेंटर

सामाजिक संगठनों ने की मांग
'नेशनल कैंपेन फॉर माइग्रेंट वर्कर्स' के बैनर तले इन संगठनों ने यह मांग भी की है कि घर लौटने वाले सभी प्रवासी मजदूरों को लॉकडाउन के कारण उनकी आजीविका के अवसर जाने के कारण हो रही परेशानियों को देखते हुए 7,000 रुपए की सहायता राशि दी जाए।

महाराष्ट्र रेल हादसे पर भड़के राहुल गांधी, बोले- देशनिर्माताओं के साथ ऐसा व्यवहार, शर्म आनी चाहिए !

पीएम को लिखा पत्र
उन्होंने कहा, 'रेल हादसे में मारे गए लोगों और घर लौटने के दौरान जान गंवाने वाले अन्य सभी लोगों के परिवार वालों को प्रधानमंत्री केयर्स फंड से 50-50 लाख रुपए की अनुग्रह राशि दी जाए।' इससे पहले इन संगठनों ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर मांग की थी कि प्रवासी मजदूरों को जल्द उनके घर पहुंचाया जाए।

औरंगाबाद ट्रेन हादसा: CM शिवराज ने जताया दुख, मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपये का मुआवजा

CM शिवराज ने किया मुआवजे का ऐलान
बता दें कि मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) ने कहा, 'उसके अलावा प्रदेश सरकार की तरफ से हर एक मृतक श्रमिक के परिजनों को पांच लाख दिए जाएंगे, और घायलों के इलाज की पूरी व्यवस्था की जाएगी। मैं विशेष विमान से उच्च अधिकारियों की एक टीम भेज रहा हूं, जो वहां पर मृतकों के अंतिम संस्कार की व्यवस्था करेगी और घायलों को हर सम्भव मदद करेगी।'

PM मोदी ने औरंगाबाद रेल हादसे पर जताया दुख, स्थिति पर निगरानी के दिए आदेश

कैसे हुआ हादसा?
बताया जा रहा है कि घर लौट रहे प्रवासी मजदूर रेल की पटरी पर सो रहे थे। नींद में होने के कारण उन्हें मालगाड़ी के पटरी पर आने की खबर ही नहीं लगी। इससे पहले की वो संभलते ट्रेन उनके ऊपर से गुजर गई। घटना सबुह 06 बजे की बताई जा रही है। मरने वाले सभी मजदूर स्टील की फैक्ट्री में काम करने वाले थे। इस घटन में अब तक 16 मजदूरों की मौत हो गई है जबकि कई अन्य मजदूर घायल बताए जा रहे हैं। पुलिस के मुताबिक ये मजदूर अपने गृह राज्य मध्य प्रदेश लौट रहे थे। वे पटरियों के किनारे चल रहे थे और थकान के कारण पटरियों पर ही सो गए थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.