Monday, Oct 03, 2022
-->
sonia gandhi congress releases video message migrant laborers target modi bjp govt railway rkdsnt

सोनिया गांधी ने अब प्रवासी मजदूरों के लिए जारी किया वीडियो संदेश, निशाने पर मोदी सरकार

  • Updated on 5/4/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। मजदूरों के रेल भाड़े का सारा खर्च उठाने के ऐलान के बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अब प्रवासी मजदूरों के लिए अपना वीडियो संदेश भी जारी किया है। इस वीडियो में उन्होंने ना सिर्फ मजदूरों को लेकर अपने जज्बात शेयर किए हैं, वहीं केंद्र की मोदी सरकार को भी निशाने पर लिया है। 

केजरीवाल ने कोरोना संकट पर दिल्ली वासियों से की अपील, 3 बातों पर दिया जोर

लॉकडाउन 3.0: गुजरात के सूरत में मजदूरों पर पुलिस लाठीचार्ज, प्रियंका ने कसा तंज

हिंदी में दिए अपने वीडियो संदेश में सोनिया गांधी ने कहा है कि देशवासियों को दर्द हुआ जब हजारों मजदूरों को उनके हाल पर ही छोड़ दिया गया। श्रमिक भाईयों और बहनों को भूखे-प्यासे मजबूरी में सैंकड़ों किलोमीटर पैदल घर जाते देखा। आज भी लाखों श्रमिक देश के कोने-कोने में फंसे हैं और कोरोना संकट में घर जाने को बेकरार हैं। 

आरोग्य सेतु ऐप को लेकर राहुल गांधी के बाद खुफिया एजेंसी ने भी जताई चिंता

केंद्र की मोदी सरकार को आड़े हाथ लेते हुए सोनिया ने आगे कहा कि साधन और पैसा तो दूर की बात है, पूरे राशन तक की व्यवस्था नहीं की गई है। लॉकडाउन की इस घड़ी में काम का भी कोई इंतजाम नही है। श्रमिक भाईयों की पीड़ा को हम सुनते देखते हैं तो लगता है कि यह आवाज परिवार के एक सदस्य की है। 

सोनिया गांधी के बाद जावेद अख्तर को भी रास नहीं आई प्रवासी मजदूरों की बेरुखी

कांग्रेस अध्यक्षा ने कहा कि यह आवाज एक मां की है, एक पति की है, इस पुकार ने हम सभी का दिल छूआ है। हमें यह देखकर और भी पीड़ा होती है कि संकट की इस घड़ी में भारत सरकार और रेल मंत्रालय घर वापस लौटने वाले श्रमिकों से किराया और स्पेशल चार्ज वसूल रहे हैं। उम्मीद थी कि दान में आए करोड़ो रुपये पर पहला अधिकार हमारे राष्ट्रनिर्माताओं का होगा। और इस पैसे का इस्तेमाल सुरक्षित और निशुल्क रेल यात्रा में होगा।

लॉकडाउन में शराब के ठेकों पर लंबी कतारें, कुमार विश्वास ने शाह से की ये गुजारिश


उन्होंने कहा कि पीड़ा यह भी है कि ऐसा हुआ ही नहीं। यह विकट हालात देखकर कांग्रेस पार्टी ने निर्णय लिया कि हर जररूत मंद श्रमिक की रेल यात्रा का खर्च उठाएंगे। उम्मीद है कि आप सभी अपने प्रियजनों के पास पहुंच पाएंगे। महात्मा गांधी ने कहा था कि खुद को खोजने का सबसे अच्छा तरीका है कि खुद को दूसरों की सेवा में खो दो। 

मुनव्वर राणा का CDS रावत पर तंज- कोरोना वायरस पुलवामा नहीं है, ये तो दवाओं से ही ख़त्म होगा

बता दें कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में प्रवासी मजदूरों से किराया वसूलने को लेकर राजनीति गरमा गई है। सोनिया गांधी ने मजदूरों का रेल भाड़े का सारा खर्च कांग्रेस की ओर से उठाने का ऐलान कर सियासी पारे को और बढ़ा दिया। 
कोरोना महामारी के चलते लागू लॉकडाउन में बीते 40 दिनों से प्रवासी मजदूर देशभर में फंसे हुए हैं। 

अखिलेश ने पूछा- कोरोना में बढ़ती परेशानियों के बीच हवाई जहाज से पुष्प वर्षा का क्या औचित्य?

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.