Wednesday, May 12, 2021
-->
sonia gandhi slams on arnab goswami over his chat with ex barc ceo kmbsnt

अर्नब पर सोनिया का हमला, कहा- राष्ट्रवाद का प्रमाणपत्र बांटने वाले अब पूरी तरह बेनकाब

  • Updated on 1/22/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) ने ‘रिपब्लिक टीवी’ के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) की कथित व्हाट्सएप चैट को लेकर उन पर जोदार हमला बोला। चैट का हवाला देते हुए शुक्रवार को उन्होंने कहा कि दूसरों को देशभक्ति और राष्ट्रवाद का प्रमाणपत्र बांटने वाले अब पूरी तरह बेनकाब हो गए हैं। कांग्रेस कार्य समिति (CWC) की बैठक में उन्होंने यह आरोप भी लगाया कि सरकार ने किसान संगठनों के साथ बातचीत के नाम पर हैरान करने वाली असंवेदनशीलता और अहंकार दिखाया है।       

सोनिया ने कहा कि एक सप्ताह में संसद सत्र आरंभ होने जा रहा है। यह बजट सत्र है, लेकिन जनहित के कई ऐसे मुद्दे हैं जिन पर पूरी तरह चर्चा किए जाने की जरूरत है। क्या सरकार इस पर सहमत होती है, यह देखना होगा। केंद्रीय कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन का उल्लेख करते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि किसानों का आंदोलन जारी है और सरकार ने बातचीत के नाम पर हैरान करने वाली असंवेदनशीलता और अहंकार दिखाया है।   

शिवसेना की भाजपा को चुनौती- कहा, अर्नब के खिलाफ केस दर्ज करा कर दिखाएं ‘मर्दानगी’ 

कृषि कानूनों पर सरकार ने दिखाई जल्दबादी- सोनिया गांधी
सोनिया ने यह भी कहा कि यह स्पष्ट है कि कानून जल्दबाजी में बनाए गए और संसद को इनके प्रभावों का आकलन करने का अवसर नहीं दिया गया। हम इन कानूनों को खारिज करते हैं क्योंकि ये खाद्य सुरक्षा की बुनियादों को ध्वस्त कर देंगे।  व्हाट्सएप बातचीत प्रकरण का हवाला देते हुए उन्होंने कहा कि हाल ही में हमने बहुत ही परेशान करने वाली खबरें देखीं कि किस तरह से राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ समझौता किया गया है। जो लोग दूसरों को देशभक्ति और राष्ट्रवाद का प्रमाणपत्र बांटते हैं वो अब पूरी तरह बेनकाब हो गए हैं। उन्होंने अर्थव्यवस्था की स्थिति को लेकर भी सरकार पर निशाना साधा और कहा कि सरकार निजीकरण को लेकर हड़बड़ी में है।

शिवसेना का जोरदार अटैक, कहा- राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों पर 'तांडव' क्यों नहीं करती BJP

शिवसेना ने अर्नब के मामले में दी बीजेपी को चुनौती
वहीं इससे पहले गुरुवार को शिवसेना ने अर्नब को इस मामले में आड़े हाथ लिया था। शिवसेना का कहना था कि यह अच्छी बात है कि भाजपा के नेताओं ने वेब सीरीज ‘तांडव’ की सामग्री को लेकर उनके निर्माताओं के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है लेकिन अगर उनमें वास्तव में हिम्मत है तो भारतीय सैनिकों की शहादत का अपमान करने वाले पत्रकार अर्नब गोस्वामी के खिलाफ मामला दर्ज कराएं। महाराष्ट्र की गठबंधन सरकार की प्रमुख घटक शिवसेना ने यह भी आरोप लगाया कि किसी के पास से 100 ग्राम गांजा मिलने पर हो-हल्ला मचाने वाली मीडिया गोस्वामी के कथित देशद्रोह के मामले में राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा करने को तैयार नहीं है। उद्धव ठाकरे नीत पार्टी ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में उक्त टिप्प्णी की है। 

ये भी पढ़ें:

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.