Friday, Dec 03, 2021
-->
south-korea-2931-new-case-come-related-to-corona-virus

COVID19: कोरोना वायरस की चपेट में साउथ कोरिया, सामने आए 2,931 मामले

  • Updated on 2/29/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। चीन (China) के बाद अब साउथ कोरिया (South Korea) में भी कोरोना वायरस थमने का नाम लही रहे है। इस वायरस के कारण कई लोगों की जान जा चुकी है। वहीं  एक ताजा रिपोर्ट के मुताबिक साउथ कोरिया में इस वायरस के चपेट में 594 लोग और प्रभावित हुए है, साउथ कोरिया में अब तक  2,931 लोग प्रभावित हुए है। कोरोना वायरस (Corona Virus) का असर कई देशो में देखा जा रहा है।

संरा में भारत की चेतावनी, 'आतंकियों पर नकेल कसे पाकिस्तान'

इतनी तेजी से क्यों फैला
चीन (China) का राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग नोवल कोरोना वायरस के इंसान से इंसान में फैलने की पुष्टि कर चुका है। इसके बावजूद चीन समय से मरीजों की पहचान और उनके आइसोलेशन में नाकाम रहा। दिसबंर में पहला केस आने के काफी दिन बाद तक इस वायरस की पहचान नहीं हो पायी और इसे रहस्यमय निमोनिया माना जा रहा था। डब्ल्यूएचओ के वैज्ञानिकों ने जब तक इस वायरस की पहचान की, तब तक चीन का लूनर नववर्ष आ गया।

दिल्ली में भड़की हिंसा को लेकर नाराज यूनाइटेड नेशन को भारत ने दी नसीहत

चीन में यह त्यौहार बड़ी धूम-धाम से मनाया जाता है और बड़ी संख्या में चीन के लोग अपने रोजगार से छुट्टी लेकर घरों को लौटते हैं। यह 24 जनवरी से शुरू हुआ। इस दौरान बड़ी संख्या में चीन एक जगह से दूसरी जगह गए और उनमें से कुछ के साथ यह वायरस भी अन्य जगहों पर पहुंच गया। वुहान (Wuhan) से होकर गये पर्यटकों ने इसे दुनिया के दूसरे देशों में पहुंचा दिया। चीन में पढ़ रहे या घूमने आए लोग जब अपने देश लौटे तो उनमें से कई संक्रिमित पाये गए।

Tiktok यूज करते हैं तो हो जाए सावधान! जुड़ने वाला है ये फीचर

क्या है कोरोना वायरस
जानकारी के लिए बता दें डब्ल्यूएचओ (WHO) के मुताबिक कोरोना वायरस सी- फूड से जुड़ा है। कोरोना वायरस विषाणुओं के परिवार का है और इससे लोग बीमार पड़ रहे हैं। यह वायरस ऊंट, बिल्ली तथा चमगादड़ सहित कई पशुओं में भी प्रवेश कर रहा है। खास स्थिति में पशु मनुष्यों को भी संक्रमित कर सकते हैं। इस वायरस का मानव से मानव संक्रमण वैश्विक स्तर पर कम है।

UN महासचिव के प्रवक्ता दुजारिक ने दिल्ली हिंसा पर कहा- हालात पर है नजर

बाहर निकलना हो तो पहनें 95 मास्क
संक्रमण से बचने के लिए सार्वजनिक स्थानों पर यात्रा करते समय या काम करते समय एक एन95 मास्क (N95 Mask) का उपयोग करें। यह सलाह केवल सूचना के लिए है और इसे केवल पंजीकृत आयुर्वेद चिकित्सकों के परामर्श से अपनाया जाएगा। 

 

 

 

comments

.
.
.
.
.