Sunday, Nov 28, 2021
-->
south korea recovered corona patients again tested positive coronavirus pandemic kmbsnt

दक्षिण कोरिया में कोरोना की दूसरी लहर! संक्रमण से ठीक हुए 91 लोगों का टेस्ट फिर आया पॉजिटिव

  • Updated on 4/12/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। चीन (China) के बाद सबसे तेजी से कोरोना (coronavirus) से प्रभावित होने वाला देश दक्षिण कोरिया (South Korea) था। हालांकि, इस देश ने बेहद सूझ-बूझ के साथ इस वायरस पर काबू पा लिया था। कोरोना को हराने में दक्षिण कोरिया ने पूरी दुनिया के सामने एक मिसाल पेश की थी। अब वही दक्षिण कोरिया कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में आता दिख रहा है। यहां पर कोरोना के जो 91 मरीज ठीक होकर घर जा चुके थे उनका कोरोना टेस्ट फिर से पॉजिटिव आया है। 

इस मामले पर 'कोरिया सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल' के निदेशक का कहना है कि इस मामलों को देख कर लगात है जैसे कोरोना वायरस इनके शरीर में फिर से ऐक्टिव हो गया है। ये कोरोना से पुन: संक्रमित नहीं हुए बल्कि इनके शरीर में कोरोना पूरी तरह से मरा नहीं था और वो फिर से एक्टिव हो गया है।

कोरोना से लड़ने की मिसाल बना दक्षिण कोरिया, जानिए अनुशासन से कैसे हारी महामारी

वायरस के री-एक्टिव होने की आशंका
उन्होंने कहा कि अभी इस पर पूरी तरह से कुछ भी कहा नहीं जा सकता कि आखिर फिर से इन लोगों में कैसे वायरस आ गया, हालांकि प्राथमिक जांच में वायरस के री-एक्टिव होने की ही आशंका नजर आ रही है। दक्षिण कोरिया के स्वास्थ्य कर्मी और शोधकर्ता इसकी जांच कर रहे हैं। 

कोरोना संक्रमण से ठीक हुए लोगों का इस प्रकार से फिर से संक्रमित हो जाना पूरी दुनिया के लिए चिंताजनक विषय है। सभी देश ये आशा कर रहे हैं कि कोरोना से संक्रमित होने वाले जो लोग इसे मात देकर ठीक हो रहे हैं वो अपने भीतर रोग प्रतिरोधक क्षमता का इतना विकास कर लेंगे कि ये महामारी फिर से उनको नुकसान न पहुंचा सके। 

हर साल होती है 8 लाख लोगों की मौत, नहीं बन पाई HIV की वैक्सीन, कोरोना की भी नहीं कोई उम्मीद

गलत टेस्टिंग भी हो सकता है कारण
दक्षिण कोरिया के इनफेक्शियस डिजीज के प्रोफेसर किम-वो-जू का कहना है कि 91 लोगों का फिर से संक्रमित पाया जाना बस एक शुरुआत है। किम का कहना है कि लोगो में वायरस फिर से एक्टिव होने के स्थान पर उनका फिर से संक्रमित होने की संभावना ज्यादा दिख रही है।

इतनी बड़ी संख्या में लोगों का फिर संक्रमित पाया जाने का एक मुख्य कारण गलत टेस्टिंग भी हो सकता है। हो  सकता है कि उनकी कोरोना रिपोर्ट ठीक न आई हो। जिसके कारण जब फिर से टेस्ट किया गया है तो वो कोरोना संक्रमित पाए गए हों। हालांकि ये सब अभी जांच का विषय है। 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.