Wednesday, Jan 26, 2022
-->
sp akhilesh yadav coronvirus rapid antibodies test kit china pragnt

खराब निकली रैपिड टेस्ट किट तो भड़के अखिलेश, कहा- जांचे बिना प्रयोग में लाना जनता से धोखा

  • Updated on 4/22/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। समाजवादी पार्टी (SP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने भारत (India) द्वारा चीन (China) से मंगवाई गई कोरोना वायरस (Coronavirus) रैपिड टेस्ट किट को लेकर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा है कि इन टेस्ट किट को बिना गुणवत्ता की जांच किए प्रयोग में लाना जनता के साथ धोखा है।

विश्व कोरोना संकट पर G-20 देशों के बीच मंथन, फूड सप्लाई चेन को देंगे मजबूती

अखिलेश ने सरकार पर उठाए सवाल
अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा, 'चीन से आयातित रैपिड टेस्ट किट को बिना गुणवत्ता की जांच किए प्रयोग में लाना जनता के साथ धोखा है। अब टेस्ट स्थगित करनेवाली ICMR को इस विषय पर पहले ही चेतावनी देनी चाहिए थी। इतनी बड़ी लापरवाही पर सरकार तुरंत स्पष्टीकरण देकर बताए कि पहले जो जांच हुई हैं, उनके परिणाम कितने सटीक थे।'

गुजरात में कोरोना वायरस से पांच और लोगों की मौत, मृतकों की संख्या हुई 95

चीन से मिली kits तय मानकों पर नहीं उतरी खरी, उठे सवाल
गौरलतब है कि भारत ने चीन से 5 लाख पीपीई किट्स मांगाई हैं। इनमें से 63,000 PPE kits मानकों पर खरी नहीं उतरी हैं। इसकी जानकारी केंद्रीय स्वास्थय मंत्रालय ने दी है। भारत ने इस किट्स की गुणवक्ता जांच की थी। लेकिन,  63,000 किट्स तय मापदंडों पर खरी नहीं उतरी हैं। अब इसको लेकर सवाल उठ रहे हैं कि अब इन किट्स का क्या होगा। क्या इन्हें वापस भेजकर दूसरी किट्स मांगाई जाएंगी या कंपनी से कोई हर्जाना वसूला जाएगा।

बता दें कि  PPE kits डॉक्टर्स और स्वास्थ्य सेवा में जुटे लोगों के लिए जरूरी सुरक्षा सामग्री है। अगर ये ही सही नहीं होगी तो डॉक्टर्स और स्वास्थ्य सेवा में जुटे लोगों का जीवन ही खतरे में पड़ सकता है। PPE kits को लेकर विपक्ष पहले ही केंद्र की मोदी सरकार पर निशाने साधता रहा है। विपक्ष का सवाल रहा है कि आखिर इन किट्स के लिए इतनी देरी क्यों की गईं, जबकि इन किट्स को मांगाने के बाद भी इनकी उपयोगिता जांच भी की जाती है। अभी मंत्रालय ने साफ नहीं किया है कि 5 लाख किट्स में कितनी किट्स की गुणवक्ता जांच की गई है। बता दें कि चीन से कल ही 5 लाख पीपीई किट्स भारत आई हैं। ऐसे में कल से ही इनकी  गुणवक्ता जांच हो रही होगी। इस बीच 63,000 किट्स अगर खामी भरी हैं तो सवाल उठना लाजमी है। 

लॉकडाउन: EPFO ने 15 दिन में बांटे 946 करोड़ रुपये, आप भी उठा सकते हैं फायदा, ऐसे करें अप्लाई

PPE किट में से 50 हजार निकली खराब
कोरोना वायरस से पूरी दुनिया इस समय जूझ रही है। दुनिया के तमाम देश कोरोना से लड़ने के लिए चीन की तरफ देख रहे हैं। कुछ जगह चीन ने आगे आकर इन देशों की मदद तो की मगर अधिकांश देश चीन की मदद से खुश होने की जगह दुखी है। दरअसल चीन मदद के नाम पर जो उपकरण भेज रहा है उनमें से अधिकांश में शिकायत सुनने में आ रही है। भारत में  भी चीन ने 1,70,000 पीपीई किट्स आई है। खबर आ रही हैं इनमें से 50,000 किट फेल हो गई हैं।  

कोरोना आंकलन को पहुंची केंद्रीय टीम पर ममता और मोदी सरकार के बीच ठनी

50 हजार किट फेल
बता दें भारत सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि चीन के बड़ी कंपनियों ने भारत को दान स्वरुप 1,70,000 पीपीई किट दान की थी मगर इनमें से 50,000 क्वीलिटी टेस्ट में फेल हो गई हैं। बता दें यह किट्स डिफेंस रिसर्च एंड डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन लेबोरेट्री ग्वालियर में टेस्ट की गई थी। एक अधकारी ने बताया कि चीन की तरफ से दो छोटे कंसाइनमेंट्स भी आए थे जिनमें एक में 30,000 तो वहीं दूसरे में 10,000 किट्स आई थी। यह सारी की किट्स फेल हो गई हैं।

विश्व पृथ्वी दिवस के मौके पर PM मोदी का ट्वीट, कहा- कोरोना जंग में योद्धाओं का करें आभार

लगभग पांच लाख किट का चीन को दिया गया ऑर्डर
चीन से आयात की गईं किट के बारे में अधिक जानकारी देते हुए भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के मुख्य महामारी विशेषज्ञ डॉ. रमन आर गंगाखेड़कर ने बताया कि लगभग पांच लाख किट का ऑर्डर दिया गया था जिनमें से कुछ ऑर्डर जल्द भारत आने वाला था जो अभी तक नहीं भेजा गया है।

कोरोना संकट में आगे आया CRPF, एम्स को देगा 1 लाख सर्जिकल मास्क

समय पर प्राप्त नहीं हुईं किट
दरअसल, संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए किट जल्द से जल्द भारत भेजने की बात कही गई। अब ऐसा माना जा रहा है कि किट जल्द ही भारत भेज दी जाएंगी। तमिलनाडु के मुख्य सचिव शणमुगम ने भी समय पर किट न भेजने की बात कही उन्होंने कहा कि हमने चीन की कंपनी को चार लाख रैपिड एंटीबॉडी किट्स का ऑर्डर दिया था। जिसमें 50 हजार किट जल्द भारत भेजी जानी थीं जो अभी तक प्राप्त नहीं हुई हैं।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.