Tuesday, Nov 30, 2021
-->
sp leader ip singh seeking legal advice in thai girl case in up rkdsnt

यूपी में थाई गर्ल प्रकरण को लेकर कानूनी सलाह ले रहे हैं सपा नेता आईपी सिंह

  • Updated on 5/11/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश में थाईलैंड गर्ल प्रकरण को उठाने वाले समाजवादी नेता आईपी सिंह पर कानूनी कार्रवाई की तलवार लटकती नजर आ रही है। अब वह अपने बचाव में कानूनी सलाह ले रहे हैं। अपने ट्वीट वह कह रहे हैं कि उनके खिलाफ ही मुकदमा कर दिया गया है। बकौल आईपी सिंह, 'मीडिया के मित्रों से सूचना मिली की थाई गर्ल मामले में मेरे ऊपर ही मुक़दमा कर दिया गया है। बिना इलाज लड़की की मृत्यु हुई, शहर के नामी व्यापारी का नाम मीडिया रिपोर्ट में आया, ना पुलिस की लापरवाही पर कोई सवाल और ना दोषियों पर कार्यवाही। IP सिंह का जुर्म: जाँच की माँग करना।'

बायोकॉन की किरण मजूमदार ने कोरोना रोधी वैक्सीन की कमी पर उठाए सवाल

अपने एक अन्य ट्वीट में वह लिखते हैं, 'एक महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में और इलाज के अभाव में मृत्यु पर सवाल उठाना, इस प्रकरण की गंभीरता से जाँच करने की गुहार लगाना जुर्म है तो आइए..मेरी कोरोना रिपोर्ट अब निगेटिव है, मैं अपने गृह जनपद ग्राम उकरौड़ा में हूँ..आइए और गिरफ़्तार कर लीजिए मुझे...
कर लीजिए तानाशाही..!' वह आगे लिखते हैं, 'महिला की मौत की जाँच नहीं? जाँच करने की माँग करने वाले पर FIR? वाह रे सरकार! अगर मुक़दमा कर ही रहे थे तो अपना होमवर्क तो कर लेती पुलिस? लगायी गयी दोनों धाराएँ गैरकानूनी हैं।'

कोरोना से रेलवे भी बेहाल: 1952 कर्मचारियों की मौत, फेडरेशन ने पीयूष गोयल से लगाई गुहार

अपने दूसरे ट्वीट में वह पुलिस प्रशासन पर निशाना साधते हुए लिखते हैं, 'आप अपनी कारिस्तानी छिपा नहीं पाएँगे। स्थानीय प्रशासन ने- 
- लड़की की मौत को छिपाया
- उसके मिलने वालों के नाम को दबाया
- इलाज के अभाव में कॉरिडार में मरने के लिए छोड़ दिया
IPC 500 की जो धारा मुझपर लगी है वो कोर्ट के माध्यम से लगनी चाहिए वो खुद पुलिस ने लगा दी। कर लीजिए मनमानी।'

सत्येंद्र जैन के बाद AAP MLA आतिशी ने दिल्ली में कोवैक्सीन स्टॉक को लेकर लगाई गुहार

सपा नेता अपने एक और ट्वीट में लिखते हैं, 'मैं इस पूरे प्रकरण पर कानूनी सलाह ले रहा हूँ और अपना पक्ष जल्द सामने रखूँगा। मेरे किसी भी सवाल का जवाब पुलिस ने नहीं दिया और राजनीतिक दबाव में आकर मेरी ‘जाँच करने की माँग’ पर  मुक़दमा कर दिया गया?पूँजीपति के निजी सचिव को क्या अधिकार है मानहानि मुक़दमा करने का? FIR फ़र्जी है।'

कांग्रेस, एनसीपी ने कोरोना से निपटने के लिए ‘एक देश, एक नीति’ पर दिया जोर

बता दें कि आईपी सिंह ने 9 मई को अपने ट्वीट में लिखा था, 'प्रधानमंत्री @narendramodi के साथ खड़े होकर मुस्कुरा रहे भाजपा सांसद संजय सेठ के सुपुत्र पर गंभीर आरोप हैं। दुनिया भर में चल रही महात्रासदी के बीच थाईलैंड से एक काल गर्ल बुलाई गयी, जिसकी अब कोरोना से मौत हो गयी है। क्या @Uppolice में हिम्मत है कार्यवाही करने की? जाँच करने की?'

comments

.
.
.
.
.