Sunday, Feb 28, 2021
-->
special aircraft will arrive in the country today to take 2 million vaccines pragnt

ब्राजील को वैक्सीन दे रहा भारत, 2 मिलियन वैक्सीन लेने आज देश में आएगा स्पेशल विमान

  • Updated on 1/15/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट और इसके नए स्ट्रेन से गुजर रहे ब्राजील (Brazil) के लोगों के लिए राहत भरी खबर सामने आई है। भारत (India) के सीरम इंस्ट्रीयूट ऑफ इंडिया से ब्राजील ने 2 मिलियन वैक्सीन का करार किया था। जो अब पूरा होने जा रहा है। ब्राजील का एक स्पेशल विमान आज 2 मिलियन वैक्सीन लेने देश में आएगा। इसकी जानकारी खुद ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्री ने देते हुए बताया कि वैक्सीन की पहली खेप लेने के लिए विमान को गुरुवार को ब्राजील से भारत भेजा जाना था लेकिन अब ये विमान आज भेजा जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वैक्सीन मंगवाने की सभी कागजी कार्रवाई पूरी कर ली गई है।

Corona Vaccination in Delhi: 81 केंद्रों से होगी शुरुआत, जानें कैसे और किस-किस दिन लगेगी वैक्सीन

नहीं हुई कोई डील
आपको बता दें कि भारत और ब्राजील के सरकारों के बीच कोई ऐसी डील नहीं हुई थी कि वो वैक्सीन देगी। हालांकि ब्राजील के राष्ट्रपति ने पीएम मोदी से अनुरोध किया था कि वो वैक्सीन दे दें। इसके बाद ही सरकार ने एसआईआई को अनुमति दी कि वो 2 मिलियन वैक्सीन ब्राजील को देगी। वैक्सीन के लिए ब्राजील की एक टीम ने 7 -8 जनवरी को भारत के बायोटेक कंपनी के कुछ अधिकारियों से मुलाकात की थी। जिसके बाद दोनों के बीच वैक्सीन को लेकर चर्चा भी हुई थी। 

पीएम मोदी कर सकते हैं कोविड-19 टीकाकरण अभियान की शुरुआत

वैक्सीन को लेकर विदेश मंत्रालय ने कहा ये
विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने गुरुवार को कहा था कि वह अभी कोविड-19 टीकों के उत्पादन कार्यक्रम और उपलब्धता की समीक्षा कर रहा है और दूसरे देशों को इनकी आपूर्ति के बारे में कोई फैसला लेने में कुछ समय लग सकता है। मंत्रालय की ओर से यह बयान इन खबरों के बाद आया है कि ब्राजील भारतीय सीरम संस्थान से कोरोना वायरस टीकों की खुराक खरीदने के लिए विमान भेज रहा है। 

Corona Effect: 26 जनवरी की परेड में इस बार होंगे ये बड़े बदलाव, गाइडलाइन्स जारी

ब्रिटेन में मरीजों की हुई ऐसी हालत
धरती के फेफड़े कहे जाने वाले ब्राजील के वर्षावन अमेजन क्षेत्र के सबसे बड़े शहर मनौस में कोरोना वायरस संक्रमण से पीड़ित मरीजों के लिए आक्सीजन की भारी कमी हो गई है, और स्थानीय स्वास्थ्य ढांचे पर भारी बोझ के कारण कोरोना वायरस से संक्रमित कई मरीजों को दूसरे राज्यों में भेजने की व्यवस्था की जा रही है। प्रशासन ने कहा है कि ऑक्सीजन टैंकों की किल्लत होने के कारण कई लोगों को अस्पतालों में जगह नहीं मिल पा रही है। करीब 20 लाख की आबादी वाले शहर मनौस में डॉक्टरों को अब यह तय करना पड़ रहा है कि किन मरीजों का उपचार होना चाहिए।

यहां पढ़े कोरोना से जुड़ी बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.