spinning industry slows down after automobile sector recession

कताई उद्योग तक पहुंची मंदी की मार, निर्यात के साथ एक तिहाई उत्पादन में भी आई गिरावट

  • Updated on 8/20/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। ऑटोमोबाइल सेक्टर(Automobile Sector) इस समय भारी मंदी की मार झेल रहा है और अब इसका असर दूसरे क्षेत्रों में भी दिखने लगा है। ऐसी खबरे आ रही हैं कि अब कताई उद्योग पर भी मंदी देखने को मिल रही है। देश में कई बड़े जगहों पर कताई उद्योग पूरी तरह से बंद हो चुका है। वहीं दूसरी तरफ जहां यह उद्योग चल रहे हैं उनके उत्पादन क्षेत्रों में पिछले साल के मुताबिक एक तिहाई की कमी के साथ भारी गिरावट दर्ज की गई है।

मंदी की मार से कार कंपनियों की निकली हवा, बंद हो रहे हैं कई सारे प्लांट्स

अगर लगातार यही हाल रहा तो ऑटो सेक्टर के बाद कताई उद्योग से भी हजारों लोगों की नौकरियां छिन सकती हैं। इससे पहले 2010-11 में भी कताई उद्योग में मंदी देखने को मिली थी। टेक्सटाइल मिल्स(Textile mills) एसोसिएशन ने इस कंडीशन के बारे में कहना है कि सरकार की बदलती नीतियों के कारण यार्न उद्योग वैश्वि स्तर पर प्रतिस्पर्धा के लायक नहीं है।

Image result for Spinning Industry

भारत-अमेरिका की बढ़ती दोस्ती देख इमरान ने ट्रंप को किया फोन, रोया कश्मीर का दुखड़ा 

सिर्फ अप्रैल से जून की तिमाही में ही कताई उद्योग में लगभग 34.6 प्रतिशत की गिरावट दर्ज की गई है। कताई उद्योग में मंदी की मार को इससे समझ सकते हैं कि अब उद्योग कपास खरीदने की कंडीशन में भी नहीं हैं। अगर यह हाल रहा तो अगले साल 80 करोड़ कपास का कोई खरीदार नहीं मिल पाएगा। 

सरकार ने अर्धसैनिक बलों की रिटायरमेंट उम्र बढ़ाई, तत्काल प्रभाव से लागू होंगे नियम

भारतीय टेक्सटाइल इंडस्ट्री से लगभग 10 करोड़ लोग जुड़े हुए हैं। यह एक ऐसा विभाग है जो एग्रीकल्चर के बाद रोजगार मुहैया कराने का दूसरा सबसे बड़ा सेक्टर है। इस क्षेत्र में मंदी का मतलब सीधे तौर पर नौकरियों पर गाज गिरना है। बता दें कि मंदी की वजह से टेक्सटाइल इंडस्ट्री में निर्यात भी काफी प्रभावित हुआ है।

Image result for Spinning Industry

मध्यप्रदेश : मुख्यमंत्री के भांजे को प्रवर्तन निदेशालय ने किया गिरफ्तार, बैंकिंग फ्रॉड का है मामला

अगर इस क्षेत्र में और व्यापक स्तर पर मंदी आती है तो सरकार के सामने मंदी को हटाने के साथ साथ रोजगार भी उपलब्ध कराना एक प्रमुख समस्या होगी। टेक्सटाइल एसोसिएशन ने सरकार से तुरंत इस संबंध में कदम उठाने के लिए कहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.