Thursday, May 06, 2021
-->

कश्मीर: मुठभेड़ में चार आतंकवादी ढेर, सेना के तीन जवान शहीद

  • Updated on 2/12/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दक्षिण कश्मीर के एक गांव में प्रतिबंधित लश्कर-ए-तैयबा और हिज्बुल मुजाहीद्दीन के एक गुप्त ठिकाने पर आज तड़के हुयी भीषण मुठभेड़ में चार उग्रवादी मारे गए, जबकि सेना के दो जवान शहीद हो गये । घटना में एक नागरिक की भी मौत हो गयी ।

मुठभेड़ में चार स्थानीय उग्रवादियों की मौत के बाद ग्रामीणों ने हिंसक प्रदर्शन शुरू कर दिया। भीड़ को तितर-बितर करने के लिए सेना को गोलीबारी करनी पड़ी, जिसमें 15 नागरिक घायल हो गए। बाद में इनमें से एक की मौत हो गयी।

विशेष तकनीकी एवं मानवीय खुफिया विभाग से उग्रवादियों की उपस्थिति संबंधी सूचना मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने नागबल गांव में उनके ठिकाने को घेर लिया। उसके बाद शुरू हुयी भीषण मुठभेड़ में उग्रवादी मारे गए। राज्य पुलिस ने कुलगाम जिले के इस गांव में एक दर्जी के मकान में उग्रवादियों के छुपे होने की सूचना सुरक्षा बलों को दी थी।

पुलिस महानिदेशक एसपी वैद्य ने पीटीआई..भाषा से कहा कि सुरक्षा बलों को ‘‘महत्वपूर्ण सफलता’’ मिली है। उन्होंने कहा, ‘‘हालांकि, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि दो जवान शहीद हो गए और मकान मालिक का बेटा गोलीबारी में फंस गया और उसकी मौत हो गयी।’’

मौके पर मौजूद अधिकारियों का कहना है कि जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष अभियान समूह :एसओजी: ने तड़के साढ़े तीन बजे गांव को घेर लिया था। राष्ट्रीय राइफल्स की टीम सुबह चार बजे वहां पहुंची, जिसके बाद उन्होंने आगे बढऩा शुरू किया।

दर्जी के मकान की शुरूआती तलाशी में कोई सफलता नहीं मिली। हालांकि, नये सिरे से तलाशी ली गयी। इस बार मकान मालिक के बेटे से कहा गया कि वह सुरक्षा बलों को अपना मकान दिखाए, विशेष तौर पर वे जगह जो सुरक्षाकर्मियों से छूट गए थे। टीम ने नकली छत देखी, जोर लगाने पर वह खुल गया और उग्रवादी उनपर गोली चलाने लगे।

इस मुठभेड़ में सेना के दो जवान - लांसनायक रघुबीर सिंह और लांसनायक भनदौरिया गोपाल सिंह तथा दर्जी का बेटा मारे गए।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.