Saturday, Apr 17, 2021
-->
standing-committee-of-the-sdmc-extend-the-special-act-period

SDMC की स्थायी समिति ने बढ़ाई स्पेशल एक्ट की मियाद, होटल और गेस्ट हाउस नहीं होंगे सील !

  • Updated on 3/2/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दक्षिणी नगर निगम के क्षेत्र के स्पेशल एरिया में बने होटलों और गेस्ट हाउसों पर अब 2020 तक सीलिंग की कार्रवाई नहीं की जाएगी। क्योंकि शुक्रवार को दक्षिणी नगर निगम की स्थायी समिति ने स्पेशल प्रोविजन एक्ट 2009 की मियाद को 2020 तक के लिए बढ़ा दिया है।

जिसके तहत इनपर कार्रवाई नहीं की जाएगी। मियाद बढऩे से करीब दक्षिणी दिल्ली नगर निगम के तहत आने वाले 1000 से अधिक होटलों और गेस्ट हाउसों को सीलिंग और तोड़-फोड़ से राहत मिल गई है।

कांग्रेस ने AAP के साथ समझौता किए जाने का किया विरोध, जल्द ही राहुल गांधी से मिलेंगे कांग्रेसी नेता

हालांकि, निगम के भवन निर्माण के नियम अभी भी इन पर लागू होंगे और मास्टर प्लान 2021 का उल्लंघन किए जाने पर इनके खिलाफ निगम के नियमों के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी। 

2009 में लाया गया था स्पेशल प्रोविजन एक्ट
बता दें कि, वर्ष 2009 में दिल्ली सरकार और निगम ने स्पेशल प्रोविजन एक्ट लाया था। इस स्पेशल प्रोविजन एक्ट के आने से अनधिकृत नियमित कॉलोनी, अनधिकृत कॉलोनी, गांव की आबादी और शहरीकृत गांव की आबादी के तहत आने वाले होटलों और गेस्ट हाउसों को निगम की कार्रवाई से छूट दे दी गई थी। वर्ष 2009 के बाद से निगम द्वारा लगातार इसकी मियाद बढ़ाई जाती रही है।

5 साल के लंबे इंतजार के बाद अब पूरा होगा 750 बिस्तरों के अस्पताल का निर्माण कार्य

पहले इसकी मियाद 2014 तक के लिए बढ़ाया गया। 2014 में इस एक्ट की मियाद को 2017 तक बढ़ाया गया और अब 2019 में इस एक्ट की मियाद को 2017 से बढ़ाकर 2020 तक कर दिया गया है। 

100 होटलों को भेजे थे क्लोजर नोटिस
दरअसल, दक्षिणी नगर निगम के नजफगढ़ जोन की टीम ने कुछ दिन पहले महिपालपुर में स्थित करीब 100 होटलों को क्लोजर नोटिस भेज दिया गया था। नोटिस मिलने के बाद होटल संचालकों में हंगामा मच गया। इसी के तहत शुक्रवार को हुई निगम की स्थाई समिति की बैठक में निगम पार्षद इंद्रजीत सहरावत ने यह मामला उठाया था।

राजधानी दिल्ली पहुंचे वायुसेना के पायलट अभिनंदन, देश भर ने किया जोरदार स्वागत

इंद्रजीत सहरावत ने कहा कि बीते कई महीनों से निगम अधिकारी पॉलिसी को एक्सटेंशन दिए जाने की बात कर रहे हैं, लेकिन एक्स्टेंशन न देकर लोगों को क्लोजर नोटिस थमाए जा रहे हैं, जिससे लोगों में डर और भय का माहौल है। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.