Thursday, Apr 09, 2020
state workers will strike again after dealing with corona

कोरोना से निपटने के बाद फिर हड़ताल करेंगे राज्यकर्मी, सीधी भर्ती में पुराना रोस्टर से नाराज

  • Updated on 3/21/2020

देहरादून/ब्यूरो। राजकीय सेवाओं में सीधी भर्ती में आरक्षण का पुराना रोस्टर बहाल करने से जनरल-बोबीसी में राज्य सरकार के प्रति रोष है। उत्तराखंड जनरल-ओबीसी एम्प्लाइज यूनियन ने इस सम्बंध में कोरोना वायरस का प्रकोप समाप्त हो जाने के बाद फिर से आन्दोलन करने की चेतावनी दी है। यूनियन की बैठक में निर्णय लिया गया कि कोरोना से लड़ने के लिये सभी कार्मिक अपना एक दिन का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करेंगे।

यूनियन के अध्यक्ष दीपक जोशी ने बताया कि पूरा देश कोरोना से रोकथाम के प्रयास में लगा हुआ है। प्रधनमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इसी के चलते आगामी रविवार को समूचे देश में जनता कर्फ्यू का ऐलान किया गया। उत्तराखंड जनरल-ओबीसी एम्प्लाइज यूनियन ने इस जनता कर्फ्यू को पूरी तरह सफल बनाने का संकल्प लिया है। इसके साथ ही यूनियन की ओर से आम लोगों को जागरूक करने के साथ ही जरूरतमंदों का मॉस्क व हैंड सेनेटाइजर वितरित किये जायेंगे।

यूनियन ने इस बात पर नाराजगी भी जताई की हड़ताल की अवधि के बराबर उपार्जित अवकाश काटते हुये कार्मिकों के वेतन में कोई कटौती नहीं की जायेगी का आदेश शासन से अभी तक जारी नहीं हुआ है। यूनियन के अध्यक्ष दीपक जोशी ने कहा कि सरकार को चिकित्सा विभाग में छह माह तक हड़ताल पर रोक लगाने का आदेश वापस लेकर कोरोना की रोकथाम और मरीजों की उपचार में जुटे सभी डाक्टरों, नर्सिंग व पैरामेडिकल स्टॉफ को जोखिम भत्ता दिये जाने की मांग की है।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.