Tuesday, Jul 23, 2019

उफ! टूटते रिश्ते और बढ़ती हिंसा ‘यह है भारत देश हमारा’

  • Updated on 6/29/2019

किसी समय हमारी प्राचीन सभ्यता, संस्कृति और उच्च आदर्शों के चलते  समस्त विश्व मार्गदर्शन के लिए हमारी ओर देखता था परंतु आज हम स्वयं अपने उन आदर्शों से भटक गए हैं जो मात्र 10 दिनों की निम्र घटनाओं से स्पष्ट है :

-17 जून को उत्तर काशी में एक युवती ने किसी बात पर बहस हो जाने के कारण अपने पिता को गला घोंट कर मार डाला। 
-18 जून को कर्नाटक के चिकमगलूर में एक व्यक्ति ने अपनी डेढ़ महीने की बेटी की गला दबा कर हत्या कर दी क्योंकि वह बेटा चाहता था। 
-19 जून को कोटकपूरा के गांव चक कल्याण में कलियुगी बेटे ने अपने पिता को बेसबाल के बैट से पीट-पीट कर मार डाला। 
-19 जून को मोगा के गांव कोकरी कलां में एक युवक ने अपनी पत्नी के साथ मिल कर अपनी वृद्ध मां को बुरी तरह पीट कर घायल कर दिया। 
-20 जून को राजस्थान में सिरोही जिले के तांत्रिकों के चक्कर में पड़ कर एक युवक ने अपनी पत्नी और डेढ़ वर्ष की बेटी को मार डाला।
-21 जून को हिसार में एक व्यक्ति ने सगे भाई को कुल्हाड़ी से काट दिया। 
-21 जून को संगरूर में एक व्यक्ति ने अपनी बहू से बलात्कार किया।  
-21 जून को उदयपुर के नया गुडा गांव में एक 5 वर्षीय बच्ची के साथ उसके दादा ने बलात्कार कर उसे गंभीर रूप से घायल कर दिया। 
-22 जून को उत्तर प्रदेश के संभल में अपनी बेटी से प्रतिदिन बलात्कार के आरोपी पिता को उसके परिवार के सदस्यों ने पीट-पीट कर मार डाला। 
-23 जून को करतारपुर के गांव चीमा में किसी बात को लेकर पैदा हुए विवाद के बाद एक महिला ने चाकू से अपने पति का गुप्तांग रेत डाला।
-24 जून को गुरदासपुर के गांव में अपनी पत्नी की मृत्यु के बाद नाबालिग बेटी से बलात्कार के आरोप में एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया। 
-25 जून को अमृतसर में गांव गौसाबाद में 2 किल्ले जमीन के लिए बड़े भाई ने गोलियां मार कर छोटे भाई को मौत के घाट उतार दिया। 
-25 जून को कोयम्बटूर में एक युवक द्वारा दूसरी जाति की महिला से शादी के कुछ ही घंटे बाद युवक के बड़े भाई ने उसकी हत्या करवा दी। 
-25 जून को तमिलनाडु के तिरुनेलवेली जिले में अपनी पत्नी द्वारा फेसबुक का इस्तेमाल करने से नाराज पति ने उसे मार डाला।
-26 जून को सोनीपत में एक महिला ने अपने ससुर, उसके 3 भाइयों व एक अन्य रिश्तेदार पर उससे गैंगरेप करने का आरोप लगाया। 
-26 जून को लखनऊ के जानकीपुरम में एक युवक ने मामूली सी बात पर झगड़े में अपने पिता की जान ले ली। 

उक्त घटनाएं हमारे समाज पर एक घिनौना धब्बा हैं और इस कटु तथ्य की ओर इंगित करती हैं कि आज हम अपने प्राचीन नैतिक मूल्यों से किस कदर नीचे गिर गए हैं। उल्लेखनीय है कि जिन पश्चिमी देशों की हम आलोचना करते नहीं थकते वहां इस तरह की नैतिकता से गिरी घटनाएं कम होती हैं।                                                                     —विजय कुमार 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.