दक्षिण अफ्रीका के इतिहास में कुछ ऐसा रहा 'मामू वेतु' विनी मंडेला का संघर्ष

  • Updated on 4/4/2018

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दक्षिण अफ्रीका के इतिहास में अपनी एक अलग पहचान छोड़ने वाले रंगभेद विरोधी आंदोलन के प्रमुख नेता और पूर्व राष्ट्रपति नेल्सन मंडेला  की पूर्व पत्नी विनी मंडेला का सोमवार के दिन जोहानसबर्ग के हॉस्पिटल में 81 की उम्र में निधन हो गया।

Navodayatimes
उनके निधन की जानकारी उनके सहायक ने दी । विनी मंडेला के आखिरी सांसें लेने के  वक्त उनका पूरा परिवार उनके पास मौजूद रहा।

Navodayatimes

विनी मंडेला अपने पति  नेल्सन मंडेला की तरह खुद भी एक रंगभेद विरोधी नेता थी। 

Navodayatimes

विनी मंडेला की शादी  नेल्सन मंडेला से 1958 में  शादी हुई थी। उन प्यार उस वक्त  परवान चढ़ रहा था जब वो देशद्रोह के मुकदमे का सामना करने में जुटे हुए थे।

Navodayatimes
इतना ही नहीं नेल्सन मंडेला ने अपनी आत्मकथा में अपने प्यार का जिक्र करते हुए कहा था कि मैं उसके प्यार में भी पड़ रहा था और उसे राजनीतिक भी बना रहा था।

Navodayatimes

साउथ अफ्रीका में उन्हें 'मामू वेतु' यानी 'मदर ऑफ नेशन' के नाम से भी जाना जाता था। लोग उनका काफी सम्मान करते थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.