Wednesday, Nov 13, 2019
stubble burning delhi pollution vijay goel cycling manish sisodia

प्रदूषण पर राजनीति तेज, साइकिल पर सवार हो सिसोदिया के घर पराली भेंट करने पहुंचे विजय गोयल

  • Updated on 11/7/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) में प्रदूषण (Pollution) को लेकर राजनीति लगातार जारी है। इसी क्रम में अब बीजेपी (BJP) के राज्यसभा सांसद विजय गोयल (Vijay Goel) अपने समर्थकों के साथ पराली लेकर साइकिल चलाते हुए दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Siosdia) के घर पहुंचे हैं। इसके साथ ही दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर उन्होंने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) के इस्तीफे की मांग भी की। इस दौरान उनके साथ बीजेपी विधायक ओम प्रकाश शर्मा (OP Sharma) भी मौजूद रहे।

विजय गोयल का आरोप है कि पंजाब में आम आदमी पार्टी द्वारा पराली जलाई गई और प्रदूषण का दोष भी आम आदमी पार्टी प्रशासित दिल्ली सरकार बीजेपी पर लगा रही है। विजय गोयल ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट कर लिखा है कि केजरीवाल मेरे पत्र का जवाब दें और दिल्ली की जनता को बताएं की उन्होंने प्रदूषण पर विज्ञापनों में पैसा फूंकने के अलावा प्रदूषण पर क्या-क्या कदम उठाये हैं?

गोयल का कहना है कि सर्वोच्च न्यायालय ने भी मेरे  द्वारा उठाये गए मुद्दों पर मोहर लगा दी है। सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार की सड़क की धूल, निर्माण कार्य, तोड़फोड़, और कचरा फेंकने की समस्या से न निपट पाने पर लताड़ लगाई और कहा की उन्हें पद से इस्तीफा दे देना चाहिए। 

प्रदूषण को लेकर SC ने दिल्ली के मुख्य सचिव को किया तलब

AAP ने केंद्र पर साधा निशाना
बता दें कि आज यानी गुरुवार को ही आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने भी दिल्ली प्रदूषण को लेकर केंद्र की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है। भारद्वाज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि केंद्र सरकार का हलफनामा जो सुप्रीम कोर्ट में दायर किया गया था उसे पढ़ते हुए कहा कि केंद्र सरकार ये खुद मानती है दिल्ली में प्रदूषण के दिनों की संख्या घटी है। आगे भारद्वाज ने कहा कि बीजेपी के नेता रोज इस बात को झुठलाते हैं कि दिल्ली में प्रदूषण कम हुआ है, जबकि उनकी सरकार ने ही सुप्रीम कोर्ट में ये माना है कि दिल्ली में प्रदूषण कम हुआ है। 

केंद्र सरकार ने अपने हलफनामे में ये भी माना कि दिवाली से पहले दिल्ली के हालता अच्छे थे, प्रदूषण कम था। दिवाली के बाद पटाखों के धुएं और पराली जलाने के कारण दिल्ली के प्रदूषण में वृद्धि हुई है। 

सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार ने मानी अपनी गलती, कहा 2019 में घटा दिल्ली का प्रदूषण- AAP

SC ने लगाई थी केंद्र और राज्य सरकारों को फटकार
बता दें कि दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारों को फटकार लगाई थी। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि अगर प्रदूषण इसी प्रकार से बढ़ता रहा तो हम लोग जी नहीं सकेंगे। केंद्र और राज्य दोनों को मिलकर इसके लिए कमद उठाने होंगे। अब बहुत हो चुका। दिल्ली का कोई कोना प्रदूषण की मार से अछूता नहीं है। इस बढ़ते प्रदूषण के कारण हम अपनी जिंदगी के महत्वपूर्ण साल खोते जा रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.