Tuesday, Jan 25, 2022
-->
Sudhir Chaudhary and Prashant Bhushan fight Corona infection in Zee News Employees rkdsnt

कोरोना संक्रमण के मुद्दे पर सुधीर चौधरी और प्रशांत भूषण में छिड़ी जंग

  • Updated on 5/19/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। कोरोना संक्रमण के मुद्दे पर जी न्यूज के संपादक सुधीर चौधरी और वकील प्रशांत भूषण के बीच सोशल मीडिया पर जंग छिड़ गई है। दरअसल, मुद्दा जी न्यूज के कर्मचारियों का कोरोना संक्रमित होना और उसके बाद सुधीर चौधरी का सोशल मीडिया पर ट्रोल होना है। दरअसल, सुधीर चौधरी ने दिल्ली के तबलीगी जमात के मुद्दे पर कोरोना जेहाद शब्द का इस्तेमाल किया था। इसी को लेकर अब सुधीर चौधरी को ट्रोल किया जा रहा है। प्रशांत भूषण ने भी इस मुद्दे को हाथ से जाने नहीं दिया है। 

बसों के मद्दे पर यूपी पुलिस ने प्रियंका गांधी के सचिव के खिलाफ दर्ज कराई FIR

अपने ट्वीट में वह लिखते हैं, "सब लोग चाहते हैं कि उनका टेस्ट हो जाय और सबको वर्क फ्रॉम होम की अनुमति मिले. केवल जरूरी लोग ही दफ्तर आएं. लेकिन सुधीर चौधरी ने सबको धमकाते हुए कहा कि- मैं कल से ये नहीं सुनना चाहता कि किसी को बुखार आ रहा है, खांसी आ रही है"।क्या इसे तिहाड़ नहीं भेजा जाऐ?' इसके साथ ही प्रशांत भूषण ने कुछ ऐसे ट्वीट को रिट्वीट किया है, जो सुधीर चौधरी पर तंज कसते हैं।

यशवंत सिन्हा बोले- भक्तों मैदान मत छोड़ो, कृपया मुझे जी भरकर गालियां दो

प्रशांत भूषण यह भी सवाल उठाते हैं, 'आखिर क्यों जी के प्रबंधन और सुधीर चौधरी को क्यों नहीं गिरफ्तार किया गया कि उन्होंने कोविड पीड़ित कर्मियों को काम पर लगाए रखा और यह आपदा प्रबंधन अधिनियम और महामारी अधिनियम में बिल्कुल उल्लंघन है।' इस ट्वीट में उन्होंने नोएडा पुलिस को टैग किया है।

मजदूरों के मुद्दे पर कांग्रेस के साथ खड़े नजर आए अखिलेश यादव, BJP पर साधा निशाना

उधर सुधीर चौधरी ने भी प्रशांत भूषण के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, 'सुप्रीम कोर्ट को ऐसे वकीलों के ख़िलाफ़ स्वयं संज्ञान लेकर कार्यवाही करनी चाहिए जो ऐसे संकट के दौर में FAKE NEWS फैलाकर अपनी दुकानदारी चला रहे हैं।देश के तो ये कभी भी नहीं थे,लेकिन सुप्रीम कोर्ट का भी दुरुपयोग करते हैं।जिस खबर को ये सब लोग मिलकर फैला रहे हैं वो ग़लत है।'

यूपी में मजदूरों के मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री वीके सिंह भी कूदे, प्रियंका गांधी पर साधा निशाना

चौधरी ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा है, 'हैशटैग जी न्यूज सील करो को ट्वीट करने वाले के लिए ब्रेकिंग न्यूज है। हमारा दफ्तर, न्यूजरूम और स्टूडियोज शुक्रवार को योग्य नोएडा प्राधिकरण द्वारा खुद ही सील रहा। ध्यान से आधिकारिक बयान पढ़ें और झूठ को फैलाने से रोकें। '

अर्णब गोस्वामी को सुप्रीम कोर्ट ने दिया करारा झटका, उमर-प्रशांत ने जताई खुशी

comments

.
.
.
.
.