Monday, May 23, 2022
-->
sully-deals-app-accused-arrested-by-delhi-police-indore-police-raised-questions-rkdsnt

‘सुल्ली डील्स’ ऐप : आरोपी को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार, इंदौर पुलिस ने उठाए सवाल

  • Updated on 1/9/2022


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। दिल्ली पुलिस ने ‘सुल्ली डील्स’ ऐप बनाने के आरोप में एक व्यक्ति को मध्य प्रदेश के इंदौर से गिरफ्तार किया है। अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि यह ‘सुल्ली डील्स’ ऐप मामले में पहली गिरफ्तारी है। सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों को बिना उनकी मंजूरी के इस मोबाइल ऐप्लीकेशन (ऐप) पर ‘नीलामी’ के लिए डाला गया था। उन्होंने बताया कि आरोपी ओंकारेश्वर ठाकुर (26) ने इंदौर स्थित आईपीएस अकादमी से बीसीए किया है और वह न्यूयॉर्क सिटी टाउनशिप का निवासी है।  दिल्ली के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) के पी एस मल्होत्रा ने बताया कि शुरुआती पूछताछ में आरोपी ने स्वीकार किया है कि वह ट्विटर पर उस समूह का सदस्य है, जिसमें मुस्लिम महिलाओं को बदनाम करने और ‘ट्रोल’ के लिए विचारों को साझा किया जाता है। 

RBI के पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल बीजिंग स्थित AIIB के उपाध्यक्ष नियुक्त

 

अधिकारी ने बताया, ‘‘उसने गिटहब पर कोड विकसित किया। गिटहब तक समूह के सभी सदस्यों की पहुंच थी। उसने अपने ट्विटर अकाउंट पर ऐप को साझा किया था। मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों को समूह के सदस्यों ने अपलोड किया था।’’ जांच में खुलासा हुआ है कि आरोपी ‘एट द रेट गैंगेसियन’ हैंडल का उपयोग करके जनवरी 2020 में‘ट्रेडमहासभा’के नाम से ट्विटर पर समूह में शामिल हुआ था। पुलिस ने बताया कि समूह पर विभिन्न प्रकार की चर्चाओं के दौरान सदस्यों ने मुस्लिम महिलाओं को ट्रोल करने को लेकर चर्चा की। डीसीपी ने कहा, ‘‘उसने (आरोपी ने) स्वीकार किया कि उसने गिटहब पर कोड/ऐप बनाया। सुल्ली डील्स ऐप को लेकर हुए हंगामे के बाद उसने सोशल मीडिया से इससे जुड़ी सभी सामग्री हटा दी थी।’’ 

पीएम मोदी की सुरक्षा चूक मामले पर SC का निर्देश- सभी रिकॉर्ड सुरक्षित रखें, जांच स्थगित रखें

दिल्ली पुलिस ने बताया कि ऐप से जुड़े कोड/तस्वीरों का पता लगाने के लिए तकनीकी उपकरणों की जांच की जा रही है। दिल्ली पुलिस के साइबर प्रकोष्ठ को अज्ञात लोगों द्वारा एक ऐप पर मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें अपलोड किए जाने की शिकायत मिली थी, जिसके बाद उसने इस संबंध में मामला दर्ज किया था।  दिल्ली पुलिस के जनसंपर्क अधिकारी चिन्मय बिस्वाल ने पहले कहा था, ‘‘नेशनल साइबर क्राइम रिपोॢटंग पोर्टल पर‘सुल्ली डील्स’मोबाइल ऐप्लिकेशन के संबंध में प्राप्त एक शिकायत पर कार्रवाई करते हुए भारतीय दंड संहिता की धारा 354-ए के तहत मामला दर्ज किया गया है और जांच शुरू की गई है।’’ इस बीच, इंदौर पुलिस ने रविवार को कहा कि दिल्ली पुलिस ने ‘सुल्ली डील्स’ ऐप बनाने के आरोप में ओंकारेश्वर ठाकुर को गिरफ्तार किए जाने की कोई जानकारी उसके साथ साझा नहीं है। 

‘बुली बाई ऐप’ के आरोपी छात्र को मध्य प्रदेश के इंजीनियरिंग कॉलेज ने किया निलंबित


इसी प्रकार की ‘‘बुली बाई’’ मोबाइल ऐप्लिकेशन के मामले में, दिल्ली पुलिस ने एक महिला पत्रकार की तस्वीर में छेड़छाड़ कर उसे वेबसाइट पर अपलोड करने के आरोप में एक जनवरी को अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी। दिल्ली पुलिस ने बताया कि असम से गिरफ्तार किया गया नीरज बिश्नोई ‘बुली बाई’ ऐप का कथित सरगना है और उसने इसे बनाया है। बिश्नोई ने पूछताछ के दौरान खुलासा किया कि वह ट्विटर हैंडल ‘सुल्ली डील्स’ का इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति से भी संपर्क में था, जिसने ‘सुल्ली डील्स’ ऐप को बनाया था। 

दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तारी की जानकारी हमसे साझा नहीं की: इंदौर पुलिस 
इंदौर पुलिस ने रविवार को कहा कि दिल्ली पुलिस ने कथित रूप से ‘सुल्ली डील्स’ ऐप बनाने वाले 26 वर्षीय व्यक्ति की गिरफ्तारी की कोई जानकारी उसके साथ साझा नहीं है। इससे पहले, दिल्ली पुलिस अधिकारियों ने रविवार को बताया कि पुलिस ने मध्य प्रदेश के इंदौर से कथित तौर पर ‘सुल्ली डील्स’ ऐप बनाने वाले को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने बताया कि यह ‘सुल्ली डील्स’ ऐप मामले में पहली गिरफ्तारी है। सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों को बिना उनकी मंजूरी के इस मोबाइल ऐप्लीकेशन (ऐप) पर ‘नीलामी’ के लिए डाला गया था। उन्होंने बताया कि आरोपी ओमकारेश्वर ठाकुर (26) ने इंदौर स्थित आईपीएस अकादमी से बीसीए किया है और वह न्यूयॉर्क सिटी टाउनशिप का निवासी है। 

पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक को लेकर अमरिंदर के साथ BJP पर जमकर बरसे सिद्धू

इस बीच, इंदौर के पुलिस आयुक्त हरिनारायणचारी मिश्रा ने बताया, ‘‘सुल्ली डील्स मामले में दिल्ली पुलिस द्वारा इंदौर से ओंकारेश्वर ठाकुर नामक व्यक्ति की गिरफ्तारी के बारे में हमें मीडिया से ही पता चला है। इस बारे में दिल्ली पुलिस ने अब तक हमसे कोई आधिकारिक सूचना साझा नहीं की है।’’     उन्होंने कहा कि ‘सुल्ली डील्स’ मामले में दिल्ली पुलिस द्वारा आधिकारिक सूचना साझा किए जाने के बाद इंदौर पुलिस अपने स्तर पर भी इस प्रकरण की पड़ताल पर विचार करेगी।  

AAP ने उत्तराखंड चुनाव के लिए जारी की उम्मीदवारों की पहली सूची, गोपाल राय करेंगे दौर

इससे पहले, दिल्ली के पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) केपीएस मल्होत्रा ने बताया कि शुरुआती पूछताछ में आरोपी ने कुबूल किया है कि वह ट्विटर पर उस समूह का सदस्य है जिसमें मुस्लिम महिलाओं को बदनाम करने और ट्रोल के लिए विचारों को साझा किया जाता है। अधिकारी ने बताया, ' उसने गिटहब पर कोड विकसित किया। गिटहब तक समूह के सभी सदस्यों की पहुंच थी। मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरों को समूह के सदस्यों ने अपलोड किया था।’’  

comments

.
.
.
.
.