Thursday, May 13, 2021
-->
sunil bharti mittal expressed concern about higher tax in telecom sector rkdsnt

सुनील मित्तल ने दूरसंचार क्षेत्र में ज्यादा Tax को लेकर जताई चिंता

  • Updated on 7/31/2020


नई दिल्ली/टीम डिजिटल। प्रमुख उद्योगपति सुनील भारती मित्तल ने दूरसंचार उद्योग पर लगने वाले शुल्कों को कम करने की शुक्रवार को एक बार फिर वकालत की। उन्होंने कहा कि सरकार इस क्षेत्र को खजाना भरने के स्रोत की तरह नहीं देखे बल्कि क्षेत्र को आॢथक गतिविधियों को कई गुणा बढ़ाने वाला मानते हुये इस पर शुल्कों का बोझ कम करे। 

GST क्षतिपूर्ति कोष में आई कमी की भरपाई पर मोदी सरकार ने हाथ खड़े किए!

भारती एयरटेल के चेयरमैन सुनील मित्तल ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘आत्मनिर्भर भारत’ आह्वान ने उद्योग जगत को एक स्पष्ट संदेश दिया है कि दूरसंचार नेटवर्क, मोबाइल डिवाइस और सॉफ्टवेयर आदि में भारत में अधिक मूल्य वर्धन हो। 

 केजरीवाल सरकार को नजर आ रही हैं मोदी सरकार की नई शिक्षा नीति में खामियां

उन्होंने कहा, ‘‘कर आमतौर पर इस उद्योग पर बहुत अधिक रहे हैं। यह महत्वपूर्ण है कि इसकी अच्छी तरह से समीक्षा की जाए और स्पेक्ट्रम जैसे दूरसंचार संसाधनों पर शुल्क को खजाना भरने का एक स्रोत नहीं बनना चाहिये, बल्कि इसे आॢथक गतिविधियों को कई गुना बढ़ाने वाले कारक के रूप में देखना चाहिये। ऐसे में जो कमी होगी, सरकार वह इस उद्योग के सहारे आगे बढऩे वाले अन्य उद्योगों से कमा लेगी।’’ 

फर्जी बिल मामला: नौसेना अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज, गुजरात में भी CBI छापे 

मित्तल भारत में मोबाइल टेलीफोनी के 25 साल पूरा होने के मौके पर सेल्यूलर ऑपरेटर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया तथा आईएमसी स्टूडियो द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे। उन्होंने कहा, सरकार को यह भी सुनिश्चित करने की जरूरत है कि काफी उतार-चढ़ाव से जूझने वाले दूरसंचार उद्योग पर शुल्कों व करों के मामले में ध्यान दिया जाये।

 राजीव टोपनो की जगह हार्दिक शाह होंगे प्रधानमंत्री मोदी के निजी सलाहकार

 

 

 

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.