Thursday, Feb 09, 2023
-->

रोहिंग्या मुसलमानों के लिए भारत ने चलाया 'अॉपरेशन इंसानियत'

  • Updated on 9/15/2017

Navodayatimesनई दिल्ली/टीम डिजिटल। म्यांमार से विस्थापित रोहिंग्या  शरणार्थियों को लेकर भारत सरकार के  रुख की संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की निंदा के बाद भारत ने बांग्लादेश में शरण लेने गए रोहिंग्या लोगों को भारी मानवीय सहायता का एलान किया।  शरणार्थियों की मदद के लिए घोषित ऑपरेशन इनसानियत के तहत वीरवार दोपहर तक  भारतीय वायुसेना के परिवहन विमानों से 53 टन राहत सामग्री  बांग्लादेश पहुंचाई गई। 

रोहिंग्या मुसलमान: PMO ने बुलाई हाई लेवल मीटिंग, इंटेलिजेंस ने किए कई बड़े खुलासे

यहां विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि  शरणार्थियों के लिए राहत सामग्री कई खेप में भेजी जाएगी। प्रवक्ता ने कहा कि बांग्लादेश में भारी संख्या में शरणार्थियों के पहुंचने से पैदा मानवीय संकट से निबटने के इरादे से भारत ने मानवीय मदद भेजी है।  भेजी गई राहत सामग्री में चावल, दाल, चीनी, नमक, खाद्य तेल , चाय, नूडल्स, मच्छरदानी आदि शामिल है।

प्रवक्ता ने कहा कि बांग्लादेश के साथ नजदीकी दोस्ताना रिश्तों के मद्देनजर भारत ने हमेशा ही बांग्लादेश में पैदा किसी भी संकट से तुरंत निबटने में सहयोग दिया है। संकट की घड़ी में भारत हमेशा बांग्लादेश के साथ खड़ा रहेगा। इन शरणार्थियों के लिए भारत से करीब सात हजार टन राहत सामग्री भेजी जाएगी। उल्लेखनीय है कि तीन दिनों पहले बांग्लादेश के उच्चायुक्त सईद मुअज्जम अली ने विदेश सचिव जयशंकर से मुलाकात कर रोहिंग्या शरणार्थी मसले पर विस्तार से चर्चा की थी।

रोहिंग्या मुस्लिमों के खिलाफ सैन्य ऑपरेशन खत्म करे म्यांमार- UN चीफ

उल्लेखनीय है कि म्यांमार से विस्थापित रोहिंग्या शरणार्थियों ने भारत में भी शरण ली है जिन्हें सुरक्षा वजहों से म्यांमार वापस भेजने की बात भारत ने कही है। इस मसले पर संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद ने भारत की निंदा भी की लेकिन भारत ने कहा कि सुरक्षा पहलू को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता।

इस आशय की रिपोर्टें हैं कि रोहिंग्या शरणार्थियों के पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठनों से सम्पर्क हैं और उनकी मदद से वे म्यांमार में सरकार विरोधी हमले करते हैं। यहां मिली रिपोर्टों के मुताबिक राहत सामग्री ले कर भारतीय परिवहन विमान चटगांव वायुसैनिक अड्डे पर पहुंच रहे हैं। 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.