Tuesday, Dec 07, 2021
-->
Supreme Court allows NTA to declare NEET-UG 2021 result

उच्चतम न्यायालय ने एनटीए को नीट-यूजी 2021 परिणाम घोषित करने की अनुमति दी

  • Updated on 10/28/2021

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उच्चतम न्यायालय ने राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (एनटीए) को देशभर में स्नातक स्तरीय चिकित्सा पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट-यूजी) के परिणाम घोषित करने की वीरवार को अनुमति दे दी है। न्यायमूर्ति एल नागेश्वर राव, न्यायमूर्ति संजीव खन्ना और न्यायमूर्ति बीआर गवई की पीठ ने एनटीए को नीट के परिणाम घोषित नहीं करने तथा दो अभ्यर्थियों के लिए फिर से परीक्षा कराने के निर्देश देने संबंधी बंबई उच्च न्यायालय के हालिया आदेश पर रोक लगा दी।

सभी एडहॉक शिक्षकों को समायोजत करने की नीति बनाए डीयू: डीटीए

पीठ ने कहा दो छात्रों के मामले पर दीवाली बाद होगा निर्णय 
दोनों विद्यार्थियों के प्रश्नपत्र और ओएमआर शीट महाराष्ट्र के एक परीक्षा केंद्र में आपस में मिल गये थे। पीठ ने एनटीए की ओर से पक्ष रख रहे सॉलिसीटर जनरल तुषार मेहता की दलीलों पर संज्ञान लेने के बाद कहा कि हम बंबई उच्च न्यायालय के फैसले पर रोक लगाते हैं। राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी परिणाम घोषित कर सकती है। पीठ ने कहा कि हम दीपावली की छुट्टियों के बाद दोनों विद्यार्थियों के बारे में निर्णय लेंगे। इस बीच हम जवाब दाखिल करने के लिए नोटिस जारी करते हैं। लेकिन हम 16 लाख छात्रों का परिणाम नहीं रोक सकते।

डीयू छात्रों ने पुलिस पर भूख हड़ताल के दौरान पीटने का लगाया आरोप, पुलिस का इनकार

कहा, 16 लाख छात्रों का परीक्षा परिणाम नहीं रोक सकते 
बंबई उच्च न्यायालय ने 20 अक्तूबर को एक अभूतपूर्व फैसले में एनटीए को आदेश दिया था कि दो अभ्यर्थियों के लिए नये सिरे से परीक्षा आयोजित की जाए और उनके परिणाम 12 सितम्बर को हुई परीक्षा के मुख्य परिणामों के साथ घोषित किये जाएं। उच्च न्यायालय ने इस तथ्य का संज्ञान लिया था कि दो अभ्यर्थियों वैष्णवी भोपाली और अभिषेक शिवाजी के प्रश्नपत्र और ओएमआर शीट परीक्षा शुरू होने से पहले परीक्षा केंद्र पर आपस में मिल गए थे। अदालत ने आदेश दिया था कि उन्हें नये सिरे से परीक्षा देने का अवसर मिले। स्नातक स्तर के मेडिकल पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिहाज से नीट परीक्षा आयोजित करने के लिए 2018 में एनटीए की स्थापना की गयी थी।

स्कूलों में कोविड सुरक्षा इंतजामों में अभिभावकों की मर्जी होगी अहम : शिक्षक

16.14 लाख अभ्यर्थियों ने कराया था पंजीकरण 
एनटीए ने याचिका में बताया कि 16,14,777 अभ्यर्थियों के लिए 202 शहरों में 3,682 केंद्रों पर 12 सितम्बर को परीक्षा आयोजित की गई। बता दें इससे पहले 11 सितम्बर को आयोजित की गई नीट पीजी परीक्षा के परिणाम परीक्षा आयोजित किए जाने के दो हफ्ते बाद 28 सितम्बर को जारी कर दिए गए थे। लेकिन नीट यूजी परीक्षार्थियों को लगातार परिणाम के लिए इंतजार करना पड़ रहा था।

comments

.
.
.
.
.