Tuesday, Jul 07, 2020

Live Updates: Unlock 2- Day 7

Last Updated: Tue Jul 07 2020 09:41 AM

corona virus

Total Cases

720,346

Recovered

440,150

Deaths

20,174

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA211,987
  • TAMIL NADU114,978
  • NEW DELHI100,823
  • GUJARAT36,858
  • UTTAR PRADESH28,636
  • TELANGANA25,733
  • KARNATAKA25,317
  • WEST BENGAL22,987
  • RAJASTHAN20,263
  • ANDHRA PRADESH20,019
  • HARYANA17,504
  • MADHYA PRADESH15,284
  • BIHAR12,140
  • ASSAM11,737
  • ODISHA9,526
  • JAMMU & KASHMIR8,675
  • PUNJAB6,491
  • KERALA5,623
  • CHHATTISGARH3,305
  • UTTARAKHAND3,161
  • JHARKHAND2,854
  • GOA1,813
  • TRIPURA1,580
  • MANIPUR1,390
  • HIMACHAL PRADESH1,077
  • PUDUCHERRY1,011
  • LADAKH1,005
  • NAGALAND625
  • CHANDIGARH490
  • DADRA AND NAGAR HAVELI373
  • ARUNACHAL PRADESH270
  • DAMAN AND DIU207
  • MIZORAM197
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS141
  • SIKKIM125
  • MEGHALAYA88
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
supreme court also expressed concern migrant workers issue sent notice center states rkdsnt

प्रवासी मजदूरों के मुद्दे पर अब सुप्रीम कोर्ट ने भी जताई चिंता, भेजा नोटिस

  • Updated on 5/26/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। देश में प्रवासी मजदूरों के मुद्दे पर अब सुप्रीम कोर्ट ने भी चिंता जताई है। इस मुद्दे पर खुद ही संज्ञान लेते हुए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र की मोदी सरकार और सभी राज्यों को नोटिस जारी किया है। इसमें पूछा गया है कि सरकार ने मजदूरों के मुद्दे पर क्या कदम उठाए हैं। सरकारों को गुरुवार तक जवाब देने को कहा गया है। 

प्रवासी मजदूर पैदल न निकलें, CM केजरीवाल कर रहे हैं पूरा इंतजाम : सिसोदिया

खास बात यह है कि इससे पहले मजदूरों के मुद्दे पर कई याचिकाएं दायर की गई थीं, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें खारिज कर दिया था, या उनकी सुनवाई की तारीख को आगे बढ़ा दिया था। सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान केंद्र की मोदी सरकार ने हलफनामा दायर कर कहा था कि कोई मजदूर सड़कों पर नहीं है। इसको लेकर विपक्षी दलों ने कई सवाल उठाए थे। वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने तो सुप्रीम कोर्ट की कार्यप्रणाली पर ही सवाल खड़े कर दिए थे। 

कांग्रेस नेता अलका लांबा बोलीं- FIR से नहीं डरती बेटियाँ साहेब, लेकिन...

बता दें कि प्रवासी मजदूरों की दिक्कतें लॉकडाउन शुरू होते ही बढ़ गई थीं। इसको लेकर सुप्रीम कोर्ट में सरकार से उनकी देखभाल को लेकर याचिका दायर हुई थी। लेकिन, उस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र की बातों पर यकीन कर याचिका को खारिज कर दिया था। लेकिन, कई राज्यों के हाई कोर्ट ने अपने राज्यों को मजदूरों के संबंध में जरूरी कदम उठाने के निर्देश दिए थे। 

CM योगी के दावे पर प्रियंका के बाद अखिलेश भी बोले-कुछ तो है जिसकी पर्दादारी है!

SMS न फोन, एयरपोर्ट पहुंचे तब पता चला 630 उड़ानें रद्द, यात्रियों का हुआ बुरा हाल

दरअसल, बस और रेल यातायात खुलने के बावजूद कई लोग अपने घर जाने के दौरान मर चुके हैं। अभी भी मजदूर पैदल चलने को मजबूर हैं। जो ट्रेन चलाई गई हैं, वे भी अपना रुट भटक चुकी हैं और ऐसे में मजदूरों का सफर एक-दो दिन की बजाए हफ्ते में बदल गया है। लोग भूखे-पियासे रहने को मजबूर हैं। 

कोरोना की वजह से नोएडा में Zee मीडिया की बिल्डिंग सील, कभी भूषण ने उठाए थे सवाल

 

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.