Thursday, Jan 20, 2022
-->
supreme court ask what basis fixing income limit of ews category to rs 8 lakh neet rkdsnt

सुप्रीम कोर्ट ने NEET के लिए EWS श्रेणी की आय-सीमा 8 लाख रु निर्धारित करने का आधार पूछा

  • Updated on 10/7/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। सुप्रीम कोर्ट ने चिकित्सा पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए नीट परीक्षा में आरक्षण के संबंध में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) तय करने की खातिर आठ लाख रुपये सालाना आय की सीमा निर्धारित करने के केंद्र के फैसले पर उससे बृहस्पतिवार को तीखे सवाल पूछे। 

लखीमपुर हत्याकांड पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, आरोपी मिश्रा को लेकर हरकत में आई यूपी पुलिस

शीर्ष अदालत ने सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय तथा कार्मिक और प्रशिक्षण विभाग को मामले में पक्ष बनाने की अनुमति देते हुए उनसे इस बारे में हलफनामा दाखिल करने को कहा कि ईडब्ल्यूएस श्रेणी तय करने के लिए सालाना आय सीमा आठ लाख रुपये निर्धारित करने का क्या आधार था। केंद्र ने कहा कि ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लिए आठ लाख रुपये की सालाना आय सीमा तय करना ‘राष्ट्रीय जीवन निर्वाह व्यय सूचकांक’ पर आधारित नीतिगत विषय है। 

सुप्रीम कोर्ट में लखीमपुर कांड की सुनवाई से लोगों को न्याय की उम्मीद : मायावती

जस्टिस डी वाई चंद्रचूड़, जस्टिस विक्रमनाथ और जस्टिस बी वी नागरत्ना की पीठ ने केंद्र से स्पष्ट करने को कहा कि आयसीमा तय करने का क्या आधार और मानदंड है और क्या इस विषय पर विचार-विमर्श किया गया है या अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) श्रेणी में क्रीमी लेयर को तय करने की सीमा से आठ लाख रुपये आय का आंकड़ा ले लिया गया है। 

क्रूज ड्रग्स मामले में सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए BJP के भानुशाली, NCP को दी चुनौती

केंद्र और चिकित्सा परामर्श समिति (एमसीसी) के 29 जुलाई के नोटिस को चुनौती देने वाली याचिकाओं पर शीर्ष अदालत सुनवाई कर रही थी, जिनमें राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) में अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) के लिए 27 प्रतिशत और ईडब्ल्यूएस श्रेणी के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण प्रदान करने की बात कही गयी थी। 

लखीमपुर कांड की जांच के लिए जांच आयोग गठित, प्रियंका ने की सेवारत जज से जांच कराने की मांग

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.