Monday, Jan 27, 2020
supreme court collegium recommended 16 judges appointment in allahabad high court

कॉलेजियम ने की इलाहाबाद हाई कोर्ट में 16 स्थाई जज नियुक्त करने की सिफारिश

  • Updated on 7/30/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। सुप्रीम कोर्ट की कॉलेजियम ने मंगलवार को इलाहाबाद उच्च न्यायालय के 16 अतिरिक्त न्यायाधीशों को स्थाई न्यायाधीश नियुक्त करने की सिफारिश की और चार अतिरिक्त न्यायाधीशों के मामले में मिली सिफारिश पर निर्णय स्थगित कर दिया।  

उन्नाव कांड : मोदी सरकार ने CBI को सौंपी पीड़िता हादसे मामले की जांच

प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई, न्यायमूर्ति एस ए बोबडे और न्यायमूर्ति एन वी रमण की तीन सदस्यीय कॉलेजियम ने कहा कि उसने शीर्ष अदालत के सहयोगी न्यायाधीशों की राय, निर्णय आकलन समिति की रिपोर्ट, राज्य सरकार के दृष्टिकोण और न्याय विभाग की टिप्पणी पर विचार किया है। 

स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के खिलाफ बाजार में लगे 'हमारी भूल, कमल का फूल' के पोस्टर

कॉलेजियम ने कहा कि जिन नामों की सिफारिश की गई थी उसमें से कुछ के आचरण और व्यवहार से संबंधित चुनिन्दा अपुष्ट जानकारियां भी हैं। कॉलेजियम ने इन अपुष्ट जानकारियों के बारे में कहा, ‘‘हमारी राय में, इन्हें नजरअंदाज किया जाना चाहिए क्योंकि हमें इसमें कोई दम नजर नहीं आया।’’ 

कैफे कॉफी डे में निवेश बरकरार रखेगी KKR, HDFC का भी कोई बकाया नहीं

कॉलेजियम ने जिन न्यायाधीशों को स्थाई बनाने की सिफारिश की है उनमें न्यायमूर्ति राजीव जोशी, सलील कुमार राय, जयंत बनर्जी, राजेश सिंह चौहान, सरल श्रीवास्तव, जहांगीर जमशेद मुनीर, राजीव गुप्ता, सिद्धार्थ, अजित कुमार, रजनीश कुमार, अब्दुल मोइन, दिनेश कुमार सिंह, राजीव मिश्रा, विवेक कुमार सिंह, चन्द्रधारी सिंह और अजय भनोट शामिल हैं। 

अब्दुल्ला ने मोदी से मुलाकात का मांगा वक्त, जम्मू कश्मीर के हालात से कराएंगे अवगत

कॉलेजियम ने जिन चार नामों पर निर्णय स्थगित किया है उनमें न्यायमूर्ति राहुल चतुर्वेदी, इरशाद अली, नीरज तिवारी और वीरेन्द्र कुमार-ढ्ढढ्ढ शामिल हैं। कॉलेजियम ने स्पष्ट किया है कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश से स्थाई न्यायाधीश नियुक्त करने के प्रस्ताव पर अतिरिक्त जानकारी मिलने पर विचार किया जायेगा।

उन्नाव कांड की पीड़िता की कार की टक्कर को यूपी पुलिस ने बताया हादसा, विपक्ष नाराज

इलाहाबाद उच्च न्यायालय की कॉलेजियम ने 18 फरवरी को 19 अतिरिक्त न्यायाधीशों को स्थाई न्यायाधीश नियुक्त करने की सिफारिश शीर्ष अदालत से की थी। उच्च न्यायालय कॉलेजियम द्वारा भेजे गये सारे नामों पर उत्तर प्रदेश के राज्यपाल और मुख्यमंत्री की सहमति थी।

CCD के सिद्धा्र्थ का लापता होना पूरी तरह से संदिग्ध: कांग्रेस नेता शिवकुमार

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.