Sunday, Sep 26, 2021
-->
supreme-court-dismisses-plea-seeking-refund-of-mplad-fund-rkdsnt

सुप्रीम कोर्ट ने एमपीलैड निधि लौटाने के अनुरोध वाली याचिका को किया खारिज

  • Updated on 2/16/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उच्चतम न्यायालय ने उस याचिका को मंगलवार को खारिज कर दिया जिसमें कोविड-19 महामारी से उत्पन्न स्थितियों से निपटने के लिए पीएम केयर्स फंड के लिए सांसदों द्वारा सांसद निधि (एमपीलैड) से दिये गये 365 करोड़ रुपये वापस करने के लिए केन्द्र को निर्देश देने का अनुरोध किया गया था। 

JNU राजद्रोह मामला: अदालत ने कन्हैया कुमार के खिलाफ दायर चार्जशीट का लिया संज्ञान

प्रधान न्यायाधीश बोबडे और जस्टिस एएस बोपन्ना और जस्टिस वी रामसुब्रमण्यम की एक पीठ ने कहा कि यह याचिका विचार करने योग्य नहीं है और इसे खारिज किया जाता है। याचिकाकर्ता तुषार गुप्ता की ओर से पेश वकील दुष्यंत तिवारी ने कहा कि पीएम केयर्स फंड में संसद सदस्य स्थानीय क्षेत्र विकास योजना (एमपीलैड) से सांसदों द्वारा दान किये गये 365 करोड़ रुपये दिशानिर्देशों का उल्लंघन है। 

ग्रेटा टूलकिट मामले में आरोपी शांतनु मुलुक को कोर्ट से राहत, निकिता पर फैसला कल 

तिवारी ने अपने दावों के समर्थन में एक आरटीआई के जवाब का उल्लेख किया और कहा कि धनराशि किसी और मद में खर्च करने के कारण विकास कार्य में बाधा आ रही है। गुप्ता द्वारा दायर याचिका में केंद्र सरकार को बैंक खाते में पूरी राशि लौटाने का आग्रह किया गया था जिसमें एमपीलैड्स धनराशि हर साल अंतरित की जाती हैं।

OTT प्लेटफॉर्म को रेग्युलेट करने को लेकर मोदी सरकार ने कोर्ट में साफ किया अपना रूख

याचिका में कहा गया कि अप्रैल 2020 में एमपीलैड निधि को दो वित्तीय वर्षों 2020-2021 और 2021-2022 के लिए निलंबित कर दिया गया। 

भाजपा सांसद मनोज तिवारी के खिलाफ कोर्ट में केस दायर, राहुल पर की थी टिप्पणी

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.