Tuesday, Nov 30, 2021
-->
Supreme Court Justice Shah tells PM Modi popular vibrant and visionary leader rkdsnt

सुप्रीम कोर्ट ने जस्टिस शाह ने पीएम मोदी को बताया ‘लोकप्रिय, जीवंत और दूरदर्शी नेता’

  • Updated on 2/6/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश एम. आर. शाह ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘‘हमारा सबसे लोकप्रिय, प्रिय, जीवंत और दूरदर्शी नेता बताया।’’ जस्टिस शाह ने गुजरात उच्च न्यायालय के हीरक जयंती समारोह में प्रधानमंत्री की प्रशंसा की। जस्टिस शाह ने कहा, ‘‘मुझे गुजरात उच्च न्यायालय के हीरक जयंती समारोह में, हमारे सबसे लोकप्रिय, प्रिय, जीवंत और दूरदर्शी नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उपस्थिति में, भाग लेकर गौरव का अनुभव हो रहा है।’’ 

किसान आंदोलन : विरोध स्थलों पर फिर से इंटरनेट सर्विस अस्थायी रूप से सस्पेंड

उन्होंने कहा, ‘‘भारतीय संविधान के तहत स्थापित भारतीय गणतंत्र की खूबियों में से एक है विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका के बीच शक्ति का बंटवारा।’’ जस्टिस ने कहा कि उन्हें गर्व महसूस हो रहा है कि गुजरात उच्च न्यायालय ने कभी लक्ष्मण रेखा को पार नहीं किया और हमेशा न्याय प्रदान किया है। पिछले साल जस्टिस अरुण मिश्रा द्वारा एक समारोह में प्रधानमंत्री की प्रशंसा किए जाने के बाद वह सबकी नजरों में आ गए थे। जस्टिस (अवकाश प्राप्त) मिश्रा ने मोदी को ‘‘अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्वीकार्य दूरदर्शी नेता’’ बताया था। 

सिसोदिया बोले- मोदी सरकार को प्रदर्शनकारी किसानों की मांगें मान लेनी चाहिए

शनिवार को भी अपने संबोधन में जस्टिस शाह ने गुजरात उच्च न्यायालय को अपनी कर्मभूमि बताया था। इस न्यायालय में उन्होंने 22 साल वकील की तरह और 14 साल न्यायाधीश की तरह सेवा दी थी। प्रधानमंत्री ने हीरक जयंती समारोह में एक स्मारक डाक टिकट भी जारी किया।  

किसान आंदोलन : प्रधानमंत्री राज्यसभा में सोमवार को देंगे वक्तव्य

दिग्विजय सिंह ने पूछा- किसानों के साथ वार्ता में राजनाथ सिंह का इस्तेमाल क्यों नहीं? 

समारोह में मोदी ने भारतीय न्यायपालिका की यह कहते हुए सराहना की कि उसने लोगों के हितों की रक्षा करने और व्यक्तिगत स्वतंत्रता को कायम रखने का अपना दायित्व बखूबी निभाया और यह काम उस समय भी किया गया जब राष्ट्रीय हितों को प्राथमिकता दिए जाने की आवश्यकता थी। 

रिहाना के समर्थन के बाद किसानों के मु्द्दे अब ब्रिटेन की संसद में गूंजेंगे!

 

यहां पढ़ें अन्य बड़ी खबरें...

comments

.
.
.
.
.