Wednesday, Nov 13, 2019
supreme court on air pollution central government delhi government punjab haryana

Delhi-NCR में प्रदूषण: SC ने केंद्र और राज्य सरकारों को लगाई फटकार, कही ये बात

  • Updated on 11/4/2019

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) में बढ़ते प्रदूषण (Pollution) को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने केंद्र और राज्य सरकारों को फटकार लगाई है। कोर्ट ने कहा है कि अब स्थिति बहुत गंभीर हो चुकी है। केंद्र और दिल्ली सरकार (Delhi Government) के नाते आपने इसको रोकने के लिए क्या करने का सोचा है? वहीं सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब (Punjab) और हरियाणा (Haryana) सरकार से भी पराली जलाने (Stubble Burning) पर रोक लगाने को लेकर सवाल किया। 

सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि अगर प्रदूषण इसी प्रकार से बढ़ता रहा तो हम लोग जी नहीं सकेंगे। केंद्र और राज्य दोनों को मिलकर इसके लिए कमद उठाने होंगे। अब बहुत हो चुका। दिल्ली का कोई कोना प्रदूषण की मार से अछूता नहीं है। इस बढ़ते प्रदूषण के कारण हम अपनी जिंदगी के महत्वपूर्ण साल खोते जा रहे हैं। 

प्रदूषण का प्रकोपः साइकिल से दफ्तर जाते दिखे उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया

दिल्ली का दम घुट रहा है- SC 
कोर्ट ने कहा है कि दिल्ली का दम घुट रहा है और हम कुछ भी नहीं कर पा रहे हैं। हर साल 10-15 दिन तक दिल्ली में प्रदूषण की ये स्थिति होती है। जबकि एक सभ्य और लोकतांत्रिक देश में ऐसा नहीं होता है। जीने का अधिकार बहुत महत्वपूर्ण है।

'गैस चैंबर' में तब्दील होती दिल्ली से बेहाल है जनता, AQI पहुंचा 900 के पार

दिल्ली में AQI लगातार खतरनाक स्तर पर
बता दें कि दिवाली के बाद से दिल्ली में वायुगुणवत्ता सूचकांक लगातार खतरनाक स्तर पर बना हुआ है। आज यानी सोमवार को दिल्ली का वायुगुणवत्ता सूचकांक 900 के पार पहुंचा हुआ है। सुबह 7 बजे दिल्ली में प्रदूषण इंडेक्स 708 दर्ज किया गया है। दिल्ली के लोधी रोड एरिया (Lodhi road area) में यह इंडेक्स 500 के पास था।

इसके अलावा  दिल्ली प्रदूषण का स्तर बढ़ कर आज खतरनाक स्तर पर पहुंच गया  है। सुबह 7 बजे दिल्ली में प्रदूषण इंडेक्स 708 दर्ज किया गया है। दिल्ली के लोधी रोड एरिया में यह इंडेक्स 500 के पास था। वजीरपुर में वायु गुणवत्ता सूंचकांक 919, आनंद विहार में 924, नोएडा सेक्टर 62 में 751 तो वहीं वसुंधरा में 696 दर्ज किया गया है।  

comments

.
.
.
.
.