Wednesday, Jun 29, 2022
-->
Supreme Court to hear plea against commencement of sale of electoral bonds rkdsnt

इलेक्टोरल बॉन्ड की बिक्री शुरू के खिलाफ याचिका पर सुनवाई करेगी सुप्रीम कोर्ट

  • Updated on 3/18/2021


नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। उच्चतम न्यायालय बृहस्पतिवार को उस नई याचिका पर 24 मार्च को सुनवाई करने के लिए सहमत हो गया है जिसमें कथित रूप से पारर्दिशता की कमी के चलते राजनीतिक पार्टियों के वित्तपोषण से संबंधित जनहित याचिका के लंबित रहने तक इलेक्टोरल बॉन्ड की बिक्री शुरू नहीं करने के लिए केंद्र और अन्य को निर्देश देने का अनुरोध किया गया है। प्रधान न्यायाधीश एस ए बोबडे, जस्टिस ए एस बोपन्ना और जस्टिस वी रामसुब्रमण्यन की पीठ ने एक एनजीओ के इस अभिवेदन का संज्ञान लिया कि उसकी याचिका पर तत्काल सुनवाई होनी चाहिए। 

भारत बंद के साथ आंदोलन तेज करेंगे किसान, नये कृषि कानूनों का करेंगे होलिका दहन 

यह सुनवाई इसलिए अहम है, क्योंकि यह पश्चिम बंगाल समेत कई राज्यों में विधानसभा चुनाव से पहले हो रही है। एनजीओ ‘एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉम्र्स’ की ओर से पेश हुए वकील प्रशांत भूषण ने कहा कि पिछले दो साल से जनहित याचिका को सुनवाई के लिए सूचीबद्ध नहीं किया गया। वकील ने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक और निर्वाचन आयोग ने कहा है कि अवैध पैसे का लेनदेन हो रहा है जो अर्थव्यवस्था के लिए नुकसानदेह है। उन्होंने कहा कि एक अप्रैल को बॉन्ड जारी किए जाएंगे, इसलिए मामले पर तत्काल सुनवाई की जरूरत है। 

बंगाल चुनाव : ममता ने जारी किया TMC का घोषणा पत्र, कई अहम वादे किए

पीठ ने भूषण से पूछा कि इलेक्टोरल बॉन्ड योजना पर रोक से संबंधित याचिका को क्या अदालत ने पहले खारिज किया है? भूषण ने कहा कि इसे ‘साफ शब्दों’ में खारिज नहीं किया गया है, क्योंकि शीर्ष अदालत ने पहले राजनीतिक पार्टियों से सीलबंद कवर में अपने खातों के बयान (अकाउंट स्टेटमेंट) निर्वाचन आयोग में दाखिल करने को कहा था। सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने पीठ को बताया कि अटॉर्नी जनरल के के वेणुगोपाल इस मामले में पेश होंगे। पीठ ने जनहित याचिका के लंबित रहने तक दायर नई याचिका पर सुनवाई के लिए अगले बुधवार की तारीख तय की है।

मुंबई पुलिस कमिश्नर के पद से हटाए गए परमबीर सिंह

 

 

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें... 

comments

.
.
.
.
.