Thursday, Oct 29, 2020

Live Updates: Unlock 5- Day 29

Last Updated: Thu Oct 29 2020 04:02 PM

corona virus

Total Cases

8,041,014

Recovered

7,314,209

Deaths

120,583

  • INDIA8,041,014
  • MAHARASTRA1,660,766
  • ANDHRA PRADESH1,648,665
  • KARNATAKA812,784
  • TAMIL NADU716,751
  • UTTAR PRADESH474,054
  • KERALA411,465
  • NEW DELHI370,014
  • WEST BENGAL361,703
  • ARUNACHAL PRADESH325,396
  • ODISHA287,099
  • TELANGANA234,152
  • BIHAR214,163
  • ASSAM205,237
  • RAJASTHAN191,629
  • CHHATTISGARH181,583
  • GUJARAT170,053
  • MADHYA PRADESH168,483
  • HARYANA162,223
  • PUNJAB132,263
  • JHARKHAND100,224
  • JAMMU & KASHMIR92,677
  • CHANDIGARH70,777
  • UTTARAKHAND61,261
  • GOA42,747
  • PUDUCHERRY34,482
  • TRIPURA30,290
  • HIMACHAL PRADESH21,149
  • MANIPUR17,604
  • MEGHALAYA8,677
  • NAGALAND8,296
  • LADAKH5,840
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS4,274
  • SIKKIM3,863
  • DADRA AND NAGAR HAVELI3,227
  • MIZORAM2,359
  • DAMAN AND DIU1,381
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
sushant case high court adjourns hearing on bail pleas in drugs cases rkdsnt

सुशांत प्रकरण: हाई कोर्ट ने ड्रग्स मामले में जमानत याचिकाओं पर स्थगित की सुनवाई

  • Updated on 9/18/2020


नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। बंबई उच्च न्यायालय (Bombay High Court) ने दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के सहयोगी सैमुअल मिरांडा और दो अन्य की जमानत याचिकाओं पर सुनवाई शुक्रवार को स्थगित कर दी। मिरांडा और इन दो अन्य लोगों को ‘नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो’ (NCB) ने अभिनेता की मौत से जुड़े मादक पदार्थ (ड्रग्स) के एक मामले में गिरफ्तार किया था। अब, मामले की सुनवाई की अगली तारीख 29 सितंबर निर्धारित की गई है। जस्टिस सारंग कोतवाल ने कहा कि मादक पदार्थ तस्करी एक गंभीर मुद्दा है और किसी व्यक्ति के पास से मादक पदार्थ बरामद नहीं होने पर भी एनसीबी उसकी जांच कर सकता है।  

गोवा AAP के संयोजक एल्विस गोम्स ने छोड़ा पद, महाम्ब्रे को किया नामित

उन्होंने एनसीबी की ओर से पेश हुए अतिरिक्त सॉलीसीटर जनरल अनिल सिंह से और वादी के वकीलों से अदालत के समक्ष एनडीपीएस एक्ट की धारा 27 (ए) और 37 पर विशेष रूप से दलील पेश करने को कहा। धारा 27(ए) जब्त किये गये मादक पदार्थ की मात्रा से संबद्ध है जबकि धारा 37 जमानत पर रोक लगाती है। मिरांडा, सुशांत के घरेलू सहायक दीपेश सांवत और कथित तौर पर ड्रग्स पहुंचाने वाले व्यक्ति अब्दुल बासित परिहार ने जमानत के लिये उच्च न्यायालय का रुख किया था। 

कृषि विधेयक पर कांग्रेस बोली- डिप्टी CM पद से इस्तीफा दें दुष्यंत चौटाला, JJP ने दी सफाई

पिछले सप्ताह एक विशेष अदालत ने सुशांत की ‘लिव इन पार्टनर’ रह चुकी रिया चक्रवर्ती, उनके भाई शौविक के अलावा सावंत, मिरांडा, परिहार और अन्य आरोपी जैद विलातरा की जमानत याचिकाएं खारिज कर दी थी। रिया और उनके भाई ने जमानत के लिये उच्च न्यायालय का रुख नहीं किया था। परिहार के वकील तारक सैयद ने शुक्रवार को उच्च न्यायालय में दलील दी कि एनसीबी ने आरोपियों के पास से कुल 59 ग्राम गांजा ही बरामद किया था, जो वाणिज्यिक मात्रा से कम है। 

वाणिज्यिक मात्रा में मादक पदार्थ रखने पर अधिक सजा का प्रावधान है। उन्होंने दलील दी कि परिहार, मिरांडा और सावंत पर जमानत योग्य अपराधों के तहत मामला दर्ज किया गया है। जस्टिस कोतवाल ने कहा कि अगली तारीख में सभी पक्षों को इस बारे में विस्तार से दलील पेश करनी होगी कि क्या बहुत कम मात्रा में ड्रग्स खरीदने पर भी जमानत पर रोक हो सकती है। उन्होंने यह भी कहा कि एनसीबी ने यदि किसी आरोपी के पास से कुछ भी बरामद नहीं किया है तो भी वह जांच करने के लिये स्वतंत्र है। 

योगी सरकार ने लगाया AAP सांसद संजय सिंह पर राजद्रोह का केस, किया तलब

न्यायाधीश ने कहा, ‘‘आप डीलर रहे होंगे और इसलिए आपके पास कुछ नहीं रहा होगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मूल विचार यह है कि आपको ड्रग्स तस्करी की चेन तोडऩी होगी...।’’ याचिकाकर्ताओं ने यह भी दलील दी कि एनसीबी यह प्रर्दिशत करने की कोशिश कर रहा है, जैसे कि करोड़ों रुपये रखने वाले सुशांत के पास पैसों की इतनी कमी हो गई थी कि उनकी लिव इन पार्टनर और कर्मचारी को उनके लिये ड्रग्स खरीदनी पड़ी। अदालत ने कहा कि वह मामले के तथ्यों की पड़ताल 29 सितंबर को करेगी, जो सुनवाई की अगली तारीख है।

 

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें...

सुशांत मौत मामले में CBI ने दर्ज की FIR, रिया के नाम का भी जिक्र

 

 

comments

.
.
.
.
.