Sunday, Apr 18, 2021
-->
sushil modi bihar government doest have resources to bring workers back laborers prshnt

मजदूरों को राज्य में वापस लाने पर बोले सुशील मोदी- बिहार सरकार के पास नहीं है संसाधन

  • Updated on 4/30/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के कारण लॉक डाउन में अलग-अलग राज्य में फंसे प्रवासी मजदूरों को उनके गृह राज्य में पहुंचाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा गाइडलाइन जारी कर दी गई है। इसी बीच बिहार के मजदूरों के लिए मुश्किलें खड़ी हो गई, क्योंकि बिहार के मजदूर वापस अपने गृह राज्य कैसे आएंगे इसका कोई जवाब अभी बिहार सरकार की तरफ से नहीं आया है। इस मामले पर बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि राज्य सरकार के पास ना ही इतना साधन है और ना ही इतने बस सेवा है कि बाहर फंसे मजदूरों और छात्रों को वापस बुलाया जा सके।

ऑन लाइन एन 95 मास्क खरीद रहे हैं तो जरा संभलना, बड़े धोखे हैं इस राह में

विपक्ष का हमला
मजदूरों को वापस गृह राज्य बुलाने पर सुशील मोदी अभी कोई स्थिति साफ नहीं कर पाए हैं, फिलहाल सीएम नितेश कुमार ने इतना जरूर कहा है कि मुख्य सचिव के साथ बैठक कर सारी बातों पर वे चर्चा करेंगे और कोई ना कोई रणनीति तैयार की जाएगी।

मजदूरों को वापस से वापस राज्य में बुलाने के लिए डिप्टी सीएम द्वारा दिए गए बयान पर विपक्ष ने सवाल खड़ा किया है। इस पर कांग्रेस नेता प्रेमचंद्र मिश्रा ने कहा कि सरकार अब भाग नहीं सकती, उन्होंने कहा कि बिहार सरकार पहले गाइडलाइंस बनाने की बात कर रही थी और अब सब कुछ तय होने के बाद संसाधन का रोना रो रही है।

लॉकडाउन में मिली छूट के बाद भी बिहार में आसान नहीं होगी नीतीश कुमार की राह

केंद्र सरकार द्वारा गाइडलाइंस
दरअसल अन्य राज्यों में फंसे प्रवासी मजदूरों के लिए केंद्र सरकार ने उन्हें अपने गांव-घर जाने की अनुमति दे दी है। गृह मंत्रालय ने बुधवार को राज्यों को इस संबंध में आदेश जारी किया है जिसमें कहा गया है कि फंसे मजदूरों, छात्रों, तीर्थयात्रियों, पर्यटकों आदि को बसों से उनके गंतव्य स्थान पर पहुंचाया जाए। जिसमें जिन बसों से उन्हें ले जाएगा उसे अच्छी तरह से सैनिटाइज किया जाएगा और लोगों को बैठाने में फिजिकल डिस्टेंस का पूरा ध्यान रखा जाएगा।

केंद्र सरकार के इस फैसले का बिहार सरकार ने स्वागत किया है और कहा कि यह हम लोगों का आग्रह था जिस पर केंद्र सरकार ने सकारात्मक निर्णय लिया है।

लॉकडाउन में फंसे मजदूरों, छात्रों के लिए खुशखबरी, मोदी सरकार ने तैयार की गाइडलाइन 

राज्य में अब तक 392 लोग संक्रमित
बता दें कि बिहार में अब तक 392 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं, राज्य में अभी 38 जिलों में से 29 जिलों में संक्रमण के मामले सामने आए हैं। वहीं अब तक 21,180 करोना संदिग्धों की के नमूने जांच के लिए लिए जा चुके हैं। संक्रमितों में 65 लोग पूरी तरह ठीक हो चुके हैं वही दो लोगों की अब मौत हुई है।

यहां पढ़ें कोरोना से जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.