Saturday, Dec 07, 2019
suspense continues on cabinet expansion in haryana dushyant seeks finance and home ministry

हरियाणा में मंत्रिमंडल विस्तार पर सस्पेंस जारी, दुष्यंत ने मांगा वित्त और गृह मंत्रालय

  • Updated on 11/12/2019

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। एक तरफ महाराष्ट्र (Maharashtra) में बीजेपी (Bjp) ने सरकार बनाने से तौबा कर लिया है तो वहीं हरियाणा (Haryana) में पार्टी की मुश्किलें कम होती दिख नहीं रही है। राज्य में सीएम और डिप्टी सीएम के शपथ लेने के बाद से मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं हुआ है। जिससे एक बार फिर बीजेपी पशोपेश में है।

हरियाणा मंत्रिमंडल विस्तार को अमित शाह ने दिखाई हरी झंडी, शपथ ग्रहण 12 नवंबर को

जजपा ने बढ़ाई बीजेपी की मुश्किल

बीजेपी की सहयोगी पार्टी जजपा (JJP) नेता और डिप्टी सीएम दुष्यंत चौटाला (Dushyant Chautala) ने कैबिनेट में महत्वपूर्ण पद के लिये ताल ठोक दिया है। लेकिन बीजेपी ने नए विधायकों को महत्वपू्र्ण मंत्री पद देने से साफ मना कर दिया है। जजपा ने बीजेपी से कृषि और गृह और वित्त मंत्रालय देने की मांग की है।

पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने के चलते फिर से बढ़ा दिल्ली का प्रदूषण, CM ने किया ट्वीट

सीएम खट्टर ने अमित शाह से की मुलाकात

इससे पहले रविवार को सीएम मनोहर लाल खट्टर ने अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात करके राज्य के राजनीतिक घटनाक्रम पर विस्तार से चर्चा की है। लेकिन दुष्यंत के जिद्द से एक बार फिर राज्य की राजनीति में उठापटक की संभावना बढ़ गई है। सूत्रों के मुताबिक दुष्यंत चौटाला खट्टर मंत्रिमंडल में कम से कम 2 मंत्री पद चाहते है। जिसको लेकर रार खत्म होता नहीं दिख रहा है।

जेल से रिहा होकर डेरा सच्चा सौदा पहुंची गुरमीत राम रहीम की करीबी हनीप्रीत

किसी भी दल को नहीं मिला बहुमत

इससे पहले राज्य के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को जब अकेले दम पर बहुमत नहीं मिली तो दुष्यंत चौटाला की पार्टी जजपा के साथ मिलकर सरकार बनाई।लेकिन 15 दिन बीत जाने के बाद भी मंत्रिमंडल के विस्तार नहीं होने से अभी से ही सरकार के स्थिरता को लेकर चर्चा तेज हो गई है। हरियाणा में 90 सदस्यीय सीट के लिये 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव हुए थे। जबकि परिणाम 24 अक्टूबर को आ गए थे। जिसमें बीजेपी को 40 सीटें मिली। जबकि कांग्रेस को 30 और जजपा को 10 सीट मिली थी। चुनाव परिणाम के बाद बीजेपी औरलजजपा ने राज्य में मिलकर सरकार बनाई।    


 

comments

.
.
.
.
.