Saturday, Nov 27, 2021
-->
swara bhaskar appreciate congress rahul gandhi conversation experts abhijeet raghuram rkdsnt

स्वरा भास्कर को भी रास आ रहा है राहुल गांधी का विशेषज्ञों से बातचीत का सिलसिला

  • Updated on 5/5/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर को भी कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का विशेषज्ञों से बातचीत का सिलसिला खूब रास आ रहा है। इसको लेकर अभिनेत्री ने जहां उनकी तारीफ की है, वहीं बातचीत की सीरीज को रोचक और सूचनावर्धक बताया है। बता दें कि कोरोना वायरस संकट के बीच राहुल गांधी ने देश की लुढ़कती अर्थव्यवस्था को लेकर देश के जाने-माने विशेषज्ञों से बातचीत शुरू की है। आज उन्होंने नोबल पुरस्कार विजेता अभिजीत बनर्जी से बातचीत की है और इससे पहले वह आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन से बातचीत कर चुके हैं। 

विदेशों में फंसे 16,000 इंडियन 7 चरणों में लौटेंगे भारत, जानें कौन कहां से आएगा

सोनिया, राहुल के बाद मजदूरों को लेकर अब प्रियंका गांधी ने मोदी सरकार को घेरा

कांग्रेस की इस पहल की तारीफ करते हुए अभिनेत्री स्वरा भास्कर अपने ट्वीट में लिखती हैं, 'विशेषज्ञों से रोचक, सूचनावर्धक बातचीत का सिलसिला शुरू करने के लिए राहुल गांधी और उनके टीम को मुबारक हो। राहुल गांधी कुछ तर्रार सवालों के साथ लैस रहें। अच्छा लगता है कि राजनेता गौर कर रहे हैं। बहुत खूब सर, शुक्रिया!' बता दें कि स्वरा मोदी सरकार की कई नीतियों का खुलकर विरोध करती रही हैं। इनमें सीएए, एनआरसी और एनपीआर के मद्दे शामिल हैं। 

CRPF कर्मियों ने भी PM CARES Fund में दान की अपनी सैलरी, शाह को सौंपा चेक

बता दें कि विशेषज्ञों से राहुल गांधी की बातचीत शुरू होने से कांग्रेस को दोहरा फायदा हुआ है। इससे जहां वह केंद्र की मोदी सरकार की खामियों को उजागर कर रहे हैं, वहीं कांग्रेस भी दमदार विपक्ष के तौर पर उभरती नजर आ रही है। इसके साथ ही केंद्र सरकार पर कई मसलों पर काम करने को मजबूर होना पड़ा है। विशेषज्ञों की बातचीत में कई सुझाव निकलकर आते हैं, जो सरकार के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। 

बेबस मजदूरों को लेकर अखिलेश यादव बोले- गरीब विरोधी BJP का अंत शुरु

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.