Friday, Dec 03, 2021
-->
Swatantra Dev Singh on CAA and NPR Akhilesh Yadav should stay in Pakistan for a month

CAA पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने संभाला मोर्चा, कहा- एक महीना पाकिस्तान रह कर देखें अखिलेश

  • Updated on 1/2/2020

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह (Swatantra Dev Singh) ने सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) पर तीखा हमला बोला है। उन्होंने अखिलेश यादव को एक महीने पाकिस्तान (Pakistan) में रहने का सुझाव दिया है। 

CAA व NRC के विरोध में सपा ने निकाला साइकिल मार्च, बीजेपी पर साधा निशाना

एक महीना पाकिस्तान में रहें अखिलेश
दरअसल, अखिलेश यादव द्वारा नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (National Population Register) को लेकर लगातार की गई बयानबाजी पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कड़ा विरोध जताया है। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव को एक महीने के लिए पाकिस्तान जाना चाहिए और हिंदू मंदिरों में प्रार्थना करनी चाहिए। तब उन्हें समझ आएगा कि वहां रह रहे हिंदुओं पर कितना अत्याचार होता है।

NPR को लेकर सपा अध्यक्ष ने केंद्र को घेरा, कहा- NRC के पीछे छिपे मंसूबों का हुआ भंडाफोड़

कांग्रेस की गरीबों को गुमराह करने की कोशिश
इसके साथ ही सीएए (CAA), एनआरसी (NRC) और एनपीआर (NPR) पर स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि अखिलेश नहीं जानते कि वह खुद क्या चाहते हैं, उन्हें नागरिकता संशोधन अधिनियम और राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर के बारे में एक बार अच्छे से पढ़ना चाहिए। उन्होंने कहा कि सीएए गरीबों के खिलाफ नहीं है और देश के लोगों पर इसका कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। लेकिन कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) लगातार इस कानून को लेकर लोगों को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं।

अखिलेश ने अपनाया कड़ा रुख
इससे पहले यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री ने NPR का विरोध करते हुए कहा था, "मैं कोई फॉर्म नहीं भरूंगा। मैं इंडियन हूं, मुझे इसका प्रमाण देने की जरूरत नहीं।" उन्होंने कहा था कि बीजेपी (BJP) वाले तय नहीं कर सकते कि कौन इस देश का नागरिक है और कौन नहीं। 

अखिलेश ने साधा BJP पर निशाना, कहा- हम नहीं भरेंगे NPR फॉर्म, जला देंगे कागज

लोगों को कितना गुमराह करोगे- अखिलेश
अखिलेश यादव ने ट्वीट कर दावा किया है कि भाजपा सरकार लोगों का उत्पीड़न कर रही है और नागरिकता संशोधन कानून (CAA), राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (NPR) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) सब एक ही हैं। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, "जब सरकार ने खुद ही राज्य सभा में कहा है कि NPR ही NRC का आधार होगा तो ये भाजपाई और कितना झूठ बोलकर लोगों को गुमराह करेंगे। इनके 'छिपे उद्देश्यों' का अब भंडाफोड़ हो चुका है। देश की एकता को खंडित करनेवालों की चला-चली की बेला आ गई है। देश एक था, एक है, एक रहेगा।"

comments

.
.
.
.
.