Friday, Apr 10, 2020
taiwan-won-corona-s-battle-even-being-close-to-china

चीन के करीब होने के बाद भी ताइवान ने कैसे जीती कोरोना की जंग, पढ़ें खास रिपोर्ट

  • Updated on 3/26/2020

नई दिल्ली/प्रियंका। चीन के वुहान से जन्मा कोरोना वायरस चीन में अब तक तबाही मचा रहा है। जनवरी की शुरुआत से ही चीन में कोरोना के मरीजों की संख्या हर दिन तेजी से बढ़ती देखी गई। वहीँ, चीनी मीडिया की माने तो चीन में अब तक 81 हजार से अधिक लोग कोरोना संक्रमण से ग्रस्त हैं। जबकि चीन से सटे ताइवान में अभी तक कोरोना के मात्र 235 मामले दर्ज किए गए हैं।

ताइवान चीन के बेहद करीब है। इसके बावजूद कोरोना पर ताइवान काबू पाने में कामयाब रहा है। जिसकी मुख्य वजह है ताइवान का समय से पहले ही सतर्क हो जाना। बता दें, ताइवान आबादी और संसाधनों के मामले में चीन के मुकाबले बेहद कमजोर है उसके बाद भी कोरोना जैसी महामारी को इस देश ने काफी हद तक आगे बढ़ने से रोक दिया है।

ये कैसे हुआ संभव
रिपोर्ट्स बताती है कि ताइवान के सेंट्रल एपिडेमिक कमांड सेंटर (CECC) ने ताइवान के स्वास्थ्य मंत्रालय के साथ मिलकर कोरोना वायरस के देश में आने से पहले ही उस पर रोक लगाने के प्रयास करना शुरू कर दिए थे। चूंकि चीन में कोरोना फैल चुका था इसलिए सबसे पहले ताइवान ने बाहर से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग करना शुरू कर दी। बता दें, उस समय ताइवान में एक भी केस मौजूद नहीं था।

लेकिन ताइवान कोई रिस्क नहीं लेना चाहता था, इसलिए उसी वक्त से ताइवान ने अपने देशवासियों को फेस मास्क और एवं दूसरी वस्तुओं के इस्तेमाल करने की सलाह दी। साथ ही बड़े लेवल पर फेस मास्क और सैनिटाइजर का निर्माण करना शुरू कर दिया था। इसके साथ ही ताइवान ने किसी दूसरे देश से आने वाले सभी लोगों के लिए दो सप्ताह का क्वारंटीन में जाना अनिवार्य कर दिया था।

Corona Exclusive: बचाव से लेकर इलाज तक, यहां Expert से जानें कोरोना से जुड़े अहम सवालों के जवाब

सुपर फास्ट निकला ताइवान
ताइवान अपने प्रयासों में सबसे तेज और सुपर फास्ट निकला। जब चीन में कोरोना की शुरुआत हुई थी तभी से ताइवान ने अपने सिपाहियों को उन फैक्ट्रियों में लगा दिया, जहां पर कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए विभिन्न चिकित्सा उपकरण जैसे मास्क, टेस्ट, सैनिटाइजर और दूसरी वस्तुएं बनाई जा रही थीं। इससे ये हुआ कि आम जनता को मास्क आदि आसानी से उपलब्ध हो गए और सुरक्षा बल भी सेफ रहे, जबकि बाकी देशों में ऐसे हालातों पर सुरक्षा बलों को लॉकडाउन और शटडाउन को सफल बनाने की जिम्मेदारी दी जाती है।

इतना ही नहीं ताइवान ने स्मार्टनेस दिखाते हुए डिजिटल थर्मामीटर, मास्क और वेंटिलेटर आदि के निर्यात पर 04 मार्च से 31 मार्च तक बैन लगा दिया और 75% तक अल्कोहल सैनिटाइजेशन का प्रोडक्शन कराया ताकि देश में इसकी आगे कमी न पड़े।

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए दुनिया के पास हैं इन दवाओं के विकल्प

उपराष्ट्रपति महामारी विशेषज्ञ
इसके अलावा इस बात को भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है कि ताइवान के उपराष्ट्रपति चेन चिएन-जेन (Chen Chien-jen) खुद एक महामारी रोकने के विशेषज्ञ हैं। उन्होंने ही कम आबादी वाले ताइवान को महामारी से बचने के लिए उपाय सुझाए थे। ताइवान में कोरोना वायरस के 6 फरवरी तक 20 मामले सामने आए थे। उसी वक्त ताइवान ने चीन और हांगकांग सहित अन्य देशों से आने वाले यात्रियों पर प्रतिबंध लगा दिया।

बताते चले कि जब ताइवान में साल 2003 के समय सिवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम (Severe acute respiratory syndrome) और 2009 में स्वाइन फ्लू (Swine flu) आया था, तभी से ताइवान सीख गया था कि कैसे इन बिमारियों को फैलने से बचाना है।

प्रिंस चार्ल्स के कोरोना संक्रमित होने के बाद शाही परिवार पर छाया कोरोना संकट

क्या कहते हैं आंकड़े
चीन के अलावा अगर स्पेन की बात करें तो यहां चार करोड़ लोगों की आबादी है और यहां कोरोना संक्रमण के 42,058 से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। जबकि फ्रांस की आबादी ताइवान से केवल तीन गुना अधिक है और वहां कोरोना के केस ताइवान के मुकाबले 110 गुना ज्यादा हैं। यानी फ्रांस में 22 हजार से अधिक केस दर्ज किए गए हैं। वहीँ, इटली में अभी तक 69 हजार से ज्यादा कोरोना के मामले दर्ज हो चुके हैं, जबकि वहां की आबादी फ्रांस जितनी ही है।

 

यहां पढ़ें कोरोना के जुड़ी महत्वपूर्ण खबरें 

क्या है कोरोना वायरस? जानें, बीमारी के कारण, लक्षण व समाधान

Corona Virus: भारत में जल्द बिगड़ेंगे कोरोना से हालात अगर ये बात नहीं मानी तो...

coronavirus: 5 दिन में दिखे ये लक्षण तो जरूर कराएं जांच 

यदि आपका है यह Blood Group तो जल्द हो सकते हैं कोरोना वायरस के शिकार 

कोरोना वायरस: जिम बंद हुए हैं एक्सरसाइज नहीं, 'वर्क फ्रॉम होम' की जगह करें 'वर्कआऊट फ्रॉम होम' 

Coronavirus को रखना है दूर तो डाइट में शामिल करें ये 7 चीजें 

कोरोना वायरस : मास्क के इस्तेमाल में भी बरतें सावधानियां, ऐसे करें यूज 

कोरोना वायरस से जुड़े ये हैं कुछ खास मिथक और उनके जवाब 

भारत में लॉकडाउन के बाद भी कोरोना वायरस के फैलने का खतरा बढ़ा, पढ़े खास रिपोर्ट

लॉक डाऊन है तो फिक्र क्या, बैंक कराएंगे आपके पैसे की होम डिलीवरी

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.