Monday, Nov 29, 2021
-->
taliban-made-suhail-shaheen-the-ambassador-of-un-prshnt

तालिबान ने सुहैल शाहीन को बनाया UN का राजदूत, महासचिव को खत लिखकर की ये मांग

  • Updated on 9/22/2021

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। तालिबान ने अफगानिस्तान का नया राजदूत एंतोनियो गुतारेस को नियुक्त किया है। तालिबान ने संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंतोनियो गुतारेस को खत लिखकर अपने प्रवक्ता सुहैल शाहीन को संयुक्त राष्ट्र में अफगानिस्तान का नया राजदूत नामित करने और महासभा के उच्च स्तरीय 76वें सत्र में उसके प्रतिनिधिमंडल को हिस्सा लेने देने की बात की है। तालिबान ने पिछले महीने अमेरिकी फोर्सेज की वापसी के बीच अफगानिस्तान को अपने कंट्रोल में ले लिया था।

महंत नरेंद्र गिरी को आज दी जाएगी भू-समाधि, भारी भीड़ की आशंका के चलते स्कूल-कॉलेज बंद

पाकिस्तान का दवाब
बता दें कि अफगानिस्तान में तालिबान के सरकार के गठन का ऐलान के बाद दुनिया भर के नेता पशोपेश में है। इसी कड़ी में अब जब कुछ ही दिन में तालिबान आधिकारिक तौर पर अफगानिस्तान का बागडोर अपने हाथ में लेंगे तब साक्षी के तौर पर अपने मित्र देशों को आमंत्रण दिया है। जिसमें पाकिस्तान,चीन,रुस,ईरान और कतर शामिल है। लेकिन रुस जो पहले तालिबान का खुलकर समर्थन करते नजर आ रहे थे अब शपथ समारोह से दूरी बना ली है।

यह भारत की कूटनीतिक जीत होगी यदि रुस इस समारोह में शामिल नहीं होता है। अभी हाल ही में ब्रिक्स सम्मेलन की अध्यक्षता भारत ने की है। जिसमें अफगानिस्तान में बदले हालात पर भी चर्चा हुई। हालांकि तालिबान ने अपने शपथ समारोह में भारत को निमंत्रण नहीं भेजकर संकेत दिया कि वो पाकिस्तान के दवाब में है।

अमेरिकी दौरे को PM मोदी ने सामरिक साझेदारी और सहयोग बढ़ाने वाला बताया

पीएम से लेकर कई मंत्री वाटेंड
मालूम हो कि तालिबान ने जो नए सरकार का चेहरा पेश किया है उससे कई देशों को भी आपत्ति है। जिसमें रुस भी शामिल है। इस सरकार में पीएम से लेकर कई मंत्री वाटेंड है। जिससे रुस पीछे हटता हुआ दिखता है। हालांकि किसी भी देश जिन्हें आमंत्रण भेजा गया है- शामिल होने की पुष्टि नहीं की है। जो तालिबान के लिये अच्छे संकेत नहीं है।   

यहां पढ़े अन्य बड़ी खबरें..

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.