वर्ष 2020 तक 5000 होम स्टे के रजिस्ट्रेशन का लक्ष्य

  • Updated on 7/11/2018

देहरादून/ब्यूरो। पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने बताया कि उत्तराखण्ड पर्यटन विकास परिषद ने पूरे राज्य में वर्ष 2020 तक कुल 5000 होम स्टे रजिस्ट्रेशन कराने का लक्ष्य रखा है। इस संबंध में सभी समस्त जिलाधिकारियों तथा जिला पर्यटन विकास अधिकारियों के साथ-साथ सभी बैंकों को भी आवश्यक निर्देश दिये गये हैं।

राज्य सरकार की महत्वाकांक्षी होम स्टे योजना के त्वरित क्रियान्वयन के लिए पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर की अध्यक्षता में बैंकिंग सेक्टर के पदाधिकारियों के साथ एक बैठक आयोजित की गई। बैठक में होम स्टे योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार करते हुए ग्रामीण उद्यमियों को बैंकों के माध्यम से अधिकतम वित्त पोषण करने तथा क्लस्टरों को विकसित करने का निर्णय लिया गया। 

साथ ही ऋण की प्रक्रिया को सरल तथा सुगम बनाने के उदेश्य से बैंकों को समयबद्ध ऑनलाइन सिस्टम तैयार करने के निर्देश दिये गये। दिलीप जावलकर ने कहा कि होम स्टे योजना का जनपद स्तर पर व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाएगा, ताकि अधिक से अधिक संख्या में ग्रामीण जन इससे लाभान्वित हो सकें। 

अगस्त माह से चलेगी काठगोदाम-देहरादून एसी चेयरकार

योजना के सफल क्रियान्वयन के लिये बैंकों को जिला स्तर पर प्राप्त होने वाले आवेदनों का अधिक से अधिक वित्त पोषण किये जाने के लिए निर्देशित किया गया। उन्होंने कहा कि इस परियोजना के इच्छुक ग्रामीणों को बैंक से दिये जाने वाले ऋण की प्रोसेसिंग को आसान बनाने के लिए सभी बैंकों को आवश्यक प्रपत्रों की चेक लिस्ट तैयार करने के निर्देश बैठक में दिए गए।

इसी तरह बैंकों को प्राप्त होने वाले प्रार्थना पत्रों के समयबद्ध निस्तारण के लिए एक ऑनलाइन सिस्टम को अपनाए जाने के निर्देश भी दिए गए। उन्होंने कहा कि ऋणों के एनपीए होने की स्थिति में राजसहायता को समायोजित करने तथा ऋण के लिए सिक्योरिटी के रूप में रखी जाने वाली सम्पति पर मोर्टगेज रजिस्ट्रेशन फीस को समाप्त करने के संबंध में वित्त विभाग से मार्गदर्शन लिया जायेगा। बैठक में जिलाधिकारी टिहरी, पर्यटन विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों के विभिन्न बैंकों के अधिकारी उपस्थित रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.