Saturday, Jul 11, 2020

Live Updates: Unlock 2- Day 11

Last Updated: Sat Jul 11 2020 03:20 PM

corona virus

Total Cases

823,471

Recovered

516,330

Deaths

22,152

  • INDIA7,843,243
  • MAHARASTRA238,461
  • TAMIL NADU114,978
  • NEW DELHI109,140
  • GUJARAT40,155
  • UTTAR PRADESH33,700
  • TELANGANA25,733
  • ANDHRA PRADESH25,422
  • KARNATAKA25,317
  • RAJASTHAN23,814
  • WEST BENGAL22,987
  • HARYANA19,736
  • MADHYA PRADESH15,284
  • BIHAR15,039
  • ASSAM11,737
  • ODISHA10,624
  • JAMMU & KASHMIR8,675
  • PUNJAB6,491
  • KERALA5,623
  • CHHATTISGARH3,305
  • UTTARAKHAND3,161
  • JHARKHAND2,854
  • GOA1,813
  • TRIPURA1,580
  • MANIPUR1,390
  • HIMACHAL PRADESH1,077
  • PUDUCHERRY1,011
  • LADAKH1,005
  • NAGALAND625
  • CHANDIGARH490
  • DADRA AND NAGAR HAVELI373
  • ARUNACHAL PRADESH270
  • DAMAN AND DIU207
  • MIZORAM197
  • ANDAMAN AND NICOBAR ISLANDS141
  • SIKKIM125
  • MEGHALAYA88
Central Helpline Number for CoronaVirus:+91-11-23978046 | Helpline Email Id: ncov2019 @gov.in, ncov219 @gmail.com
Tarun Chugh Exclusive Interview BJP Exclusive Interview with Tarun Chugh

Exclusive Interview: आप के वादे अधूरे, अब भाजपा आएगी-तरुण चुघ

  • Updated on 1/19/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। भाजपा (BJP) के राष्ट्रीय सचिव और दिल्ली (Delhi) के सहप्रभारी तरुण चुघ (Tarun Chugh) ने जोर देकर कहा कि अब अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की हवाबाजी नहीं चलेगी। दिल्ली की जनता शहर को जलाने वालों को नहीं, विकास की राह पर चलने वालों को वोट करेगी। स्वास्थ्य, परिवहन, प्रदूषण पर फेल हो चुकी केजरीवाल सरकार ‘बड़ा जीरो’ है। दिल्ली में इस बार भाजपा सरकार बनाएगी। प्रस्तुत है उनसे हुई बातचीत के प्रमुख अंश: 

केजरीवाल बनाम कौन? 57 उम्मीदवारों की लिस्ट में BJP ने नहीं किया खुलासा

- चुनाव मैदान में भाजपा को किस स्थिति में देख रहे हैं?
भाजपा के उम्मीदवार भाजपा का घोषणा पत्र लेकर हर घर पर दस्तक देंगे। भाजपा एक, दो या तीन लोगों की पार्टी नहीं है। जहां तक बात रही टिकट देने की तो पूरी प्रक्रिया है, प्रधानमंत्री, राष्ट्रीय अध्यक्ष की मौजूदगी में संसदीय दल तय करता है और उसे सभी कार्यकर्ता सम्मान देते हैं। यहां कोई तिकड़ी नहीं है जो टिकट काट दे, कोई पूछ भी नहीं सकता। यहां पार्टी के कैडर के लोग हैं वहीं लड़ते हैं। हमारी ताकत 14 हजार बूथ पर हजारों की संख्या में तैनात कार्यकर्ता हैं।

संगठन में हलचल
- आखिर भाजपा नेताओं में इतनी छटपटाहट क्यों दिख रही है? 
कोई छटपटाहट नहीं है, अरविंद केजरीवाल से दिल्ली वाले छुटकारा चाहते हैं, उनके पास गिनवाने के लिए कोई काम नहीं है। वे अब बता रहे हैं कि ये योजना शुरू की, वो योजना शुरू की। सरकार योजना पूरी करने के लिए होती है ये अभी शुरू करने का गाना गा रहे हैं। सच तो ये है कि जनता कह रही है ‘बुरे बीते पांच साल, नहीं चाहिए केजरीवाल’। आज इनसे पूछो स्वास्थ्य के क्षेत्र में इन्होंने क्या किया, मेडिकल कॉलेज, नए अस्पताल खोलने का वादा था, लेकिन सिर्फ 394 बेड ही जोड़ पाए। कहते थे कि 30 हजार नए बेड बढ़ाएंगे। केजरीवाल झूठ और हवाबाजी वाली राजनीति कर रहे हैं। 

- जो कुछ हो, चर्चा है कि केजरीवाल की ही हवा चल रही है, इस पर क्या कहेंगे?
केजरीवाल की कोरी हवाबाजी चल रही है, हवा नहीं चल रही। क्योंकि जनता सवाल पूछ रही है बसें कहां हैं, 27 प्रतिशत मौत दूषित पानी से, हवा के चलते हो रहे हैं। केजरीवाल बताएं किस विधायक, नेताओं के यहां आरओ नहीं लगा। ये मीठी गोलियां देकर मार रहे हैं। ये मान लें कि पांच साल में पानी पर कुछ नहीं किया। 

दिल्ली विस चुनाव: कांग्रेस ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, अल्का को मिली चांदनी चौक सीट

- दूषित पानी को लेकर केजरीवाल ने केंद्र सरकार की रिपोर्ट को गलत बताया था। इस पर क्या कहेंगे?
वो कुछ भी कहें, क्या हमने लाशें बदल दीं, केजरीवाल साहब सवाल का जवाब दें, सवाल पे सवाल नहीं पूछते? 

दिल्लीवासी के स्वास्थ्य सुविधा में केजरीवाल बाधा
- आम आदमी पार्टी का आरोप है कि भाजपा शासित निगम के स्कूलों की हालत खराब है, जबकि उन्होंने मोहल्ला क्लीनिक खोलकर लोगों को स्वास्थ्य के क्षेत्र में बड़ा लाभ पहुंचाया है?
मैं निगम के स्कूलों पर जवाब देने को तैयार हूं कर लें बहस, केजरीवाल को बताना होगा कि आखिर वे आयुष्मान योजना के तहत पांच लाख रुपए प्रति व्यक्ति के सरकारी खर्च से इलाज की योजना को क्यों नहीं लागू किया? दिल्ली की जनता के इलाज और स्वास्थ्य सुविधा के बीच केजरीवाल दीवार बन कर खड़े हो गए हैं। क्या मोहल्ला क्लीनिक बड़े अस्पताल की सेवाओं से तुलना कर सकते हैं। ये जनता से धोखा किया जा रहा है। शिक्षा के क्षेत्र में भी उन्होंने कोई काम नहीं किया। स्कूलों में दसवीं, बारहवीं के परिणाम गिरे। आप सरकार ने एक भी नया कॉलेज नहीं बनवाया।

- दिल्ली में अपराध होते हैं, कानून-व्यवस्था बिगड़ती है, आप का कहना है कि दिल्ली पुलिस केंद्र सरकार के पास है, हमारे पास होती तो वह सब सुधार देते। आप क्या कहेंगे?
कानून व्यवस्था हमारे पास है, लेकिन दिल्ली को जलाने वाले आप के पास हैं। उनके विधायक भड़काऊ भाषण देते हंै, उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish sisodia) ट्वीट करते हैं। दंगा भड़काते हैं, पुलिस एक-एक फुटेज खंगालेगी और जो दिल्ली को जलाने की कोशिश कर रहे थे उन्हें छोड़ा नहीं जाएगा। ये लोग कानून-व्यवस्था की बात कर रहे हैं जबकि इनके विधायक अपराधी हैं, सोमनाथ भारती ने अपनी पत्नी पर कुत्ते दौड़ाए, कोई विधायक फर्जी डिग्री वाला था, कोई संपत्ति पर कब्जे के लिए जेल गया। कई अपराध में शामिल लोगों को टिकट दिए हैं। हम प्रमाणिक कार्यकर्ताओं को टिकट दे रहे हैं।

दिल्ली चुनाव: AAP उम्मीदवार आतिशी को क्राउडफंडिंग से 12 घंटे में मिला 3 लाख का चंदा

- दिल्ली में भाजपा की चुनावी रणनीति क्या है?
आम आदमी पार्टी 2015 के बाद कोई चुनाव नहीं जीती, अब विधानसभा भी हारने वाली है। लोग केजरीवाल को पसंद नहीं करते हैं, मुख्यमंत्री ऋण योजना में 23 लोगों को लोन मिला वह आठ लाख रुपए से कम, लेकिन इस योजना के प्रचार पर आठ करोड़ खर्च किए गए। इसी तरह दवाएं नहीं खरीदी गईं और प्रचार पर करोड़ों खर्च कर दिए। डेंगू के लिए कुछ नहीं किया पर निगम के काम का श्रेय लेकर प्रचार पर करोड़ों खर्च कर दिए। केजरीवाल जोर से झूठ बोल कर जनता को बरगला रहे हैं, इसीलिए अब उनकी विदाई होगी। 

पूर्वांचल और सिख को बराबर सम्मान मिला है
- उम्मीदवार तय करने में सिख, पूर्वांचलियों को महत्व कम दिया गया? 
जितना हिस्सा सिख का है, जिनता पूर्वांचली का उसके अनुसार टिकट देने क प्रयास किया जाता है। जबकि केजरीवाल इन लोगों पर जो मेहनत, खून, पसीने से दिल्ली को संवारते हैं, उन पर संदेह करते हैं। हम सबको प्रतिनिधित्व देते हैं। वो पूर्वांचली को विदेशी मानते हैं, मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) को कहते हैं वो वापस चले जाएं, दिल्ली केजरीवाल को वापस भेजेगी। ये अफजल गुरु, कन्हैया कुमार के साथ खड़े हुए, बाला कोट पर हिसाब मांग रहे थे, सेना से हिसाब मांगते हैं, आतंकवादी मरते हैं तो केजरीवाल रोते हैं। ननकाना साहिब में जब हमला होता है तब नहीं रोते। इन सबका जवाब जनता देगी।

 - सीएए, एनआरसी को लेकर बहुत विरोध हो रहा है, केजरीवाल भी विरोध में हैं, इस पर क्या कहेंगे?
जन लोकपाल बिल पर केजरीवाल (Kejriwal) को वोट मिले। जीते तो इनकी खुद की पार्टी में लोकतंत्र खत्म हो गया। केजरीवाल प्रधानमंत्री बनने चले थे, फिर पंजाब, गोवा के मुख्यमंत्री बनने चले थे अब दिल्ली के भी नहीं रहेंगे और मुद्दे एक नहीं दर्जनों हैं पानी, स्वास्थ्य, बिजली अव्यवस्था पर इनके पास जवाब नहीं है। केजरीवाल और राहुल गांधी, सीएए, एनआरसी की बात करते हैं, कहते हैं कश्मीर जाना है, लेकिन जब कश्मीर में लोग मर रहे थे तब क्यों नहीं गए कश्मीर। एक तरफ  दिल्ली को जलाने वाले हैं दूसरी तरफ  हम हैं, जनता आम आदमी पार्टी को नहीं छोड़ेगी, दिल्ली जलाने वालों को वोट नहीं देगी। भाजपा के किसी विधायक, नेता ने नहीं कहा कि बुरके बैन होंगे, अजान नहीं होगी, लेकिन इनके विधायकों ने कहा और जनता इसीलिए सच को वोट करेगी। बड़ी बात यह है कि हमारे साथ जनता है, कार्यकर्ता हैं। मोदी एक विजन हैं और इसी नाम पर वोट देंगे।

मनीष सिसोदिया का एक पत्रकार से उप-मुख्यमंत्री बनने तक का सफर, देखें Video

 - आप का कहना है कि कच्ची कॉलोनियों को पक्का नहीं किया गया, इस पर क्या कहेंगे?
सवाल उठाने वाले चुप हो गए। आज रजिस्ट्री शुरू हो चुकी है, आम आदमी पार्टी झूठ बोलती रह गई। आप के पास कोई योजना नहीं है, जवाब देने का समय है। आम आदमी पार्टी जीरा नहीं बड़ा जीरो है।

कमल है हमारा चेहरा
भाजपा में मुख्यमंत्री पद के लिए कोई चेहरा नहीं सामने लाया गया, क्या कारण है इसका?
हमारा चेहरा कमल का फूल है। जनता तय करेगी किसे वह मुख्यमंत्री देखना चाहती है। वह बताएगी कि सड़क जाम करने वालों को, दिल्ली को जलाने वालों को हटाना है। 2019 के लोकसभा चुनाव में जनता इनकी जमानत जब्त करवा के बता चुकी है, एक बार फिर जनता इनको बताएगी, इनके हर झूठ का पर्दाफाश 11 फरवरी को हो जाएगा।

comments

.
.
.
.
.