Sunday, Jun 13, 2021
-->
tata-company-gets-contract-for-construction-of-new-parliament-building-sohsnt

टाटा कंपनी को मिला नए संसद भवन के निर्माण का कॉन्ट्रैक्ट, 21 महीने में बनकर तैयार होगी नई इमारत

  • Updated on 9/17/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। दिल्ली (Delhi) में संसद भवन (Parliament) की नई इमारत के निर्माण का कार्य टाटा कंपनी को मिल गया है। ऐसे में अब टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड (Tata Projects Limited) 861.90 करोड़ रुपये की लागत से संसद भवन की नई इमारत का निर्माण करेगी। अधिकारियों से मिली जानकारी के मुताबिक,  सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत नई इमारत संसद की मौजूदा इमारत के पास ही बनाई जाएगी और इसका निर्माण कार्य लगभग 21 महीनों में पूरा कर लिया जाएगा।

अरुण शौरी पर भ्रष्टाचार और धोखाधड़ी का लगा आरोप, FIR का आदेश

टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड बनाएगा नई इमारत
एक अधिकारी से मिली जानकारी के मुताबिक, टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड द्वारा लिए गए इस कॉन्ट्रैक्ट में संसद की नई इमारत बनाने के साथ-साथ रखरखाव का काम भी शामिल है। उन्होंने कहा कि एलएंडटी लिमिटेड ने 865 करोड़ रुपये की बोली लगाई थी लेकिन टाटा प्रोजेक्ट्स लिमिटेड की बोली सबसे कम थी। सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत संसद भवन की त्रिकोणीय इमारत, एक साझा केंद्रीय सचिवालय और राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक तीन किलोमीटर लंबे राजपथ के पुनर्विकास की परिकल्पना की गई है।

LAC पर जारी तनाव के बीच आज राज्यसभा को संबोधित करेंगे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह

प्लॉट संख्या 118 पर बनेगी नई इमारत
दरअसल, मोदी सरकार की योजना के मुताबिक जब देश 15 अगस्त 2022 को अपनी आजादी की 75 की वर्षगांठ मना रहा हो तब सांसद नए संसद भवन में बैठें। केंद्रीय लोक निर्माण विभाग (सीपीडब्ल्यूडी) के मुताबिक नई इमारत संसद भवन संपदा की प्लॉट संख्या 118 पर बनेगी। सीपीडब्ल्यूडी ने कहा कि परियोजना के अमल में आने के पूरी अवधि के दौरान मौजूदा संसद भवन में कामकाज जारी रहेगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज है जन्मदिन, BJP कर रही है सेवा सप्ताह का आयोजन

1400 सांसदों के बैठने की होगी जगह
सेंट्रल विस्टा पुनर्विकास परियोजना के तहत संसद भवन की त्रिकोणीय इमारत, एक साझा केंद्रीय सचिवालय और राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक तीन किलोमीटर लंबे राजपथ के पुनर्विकास की परिकल्पना की गई है। इसके साथ ही नई इमारत में ज्यादा सांसदों के  बैठने की जगह होगी क्योंकि परिसीमन के बाद लोकसभा और राज्यसभा के सदस्यों की संख्या में बढ़ोतरी हो सकती है। मिली जानकारी के मुताबिक, इसमें लगभघ 1400 सांसदों के बैठने की जगह तैयार की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।
comments

.
.
.
.
.