Saturday, Jul 24, 2021
-->
tejashwi yadav targeted the nitish government for the farmer movement sohsnt

बिहार: किसान आंदोलन को लेकर FIR पर आगबबूला तेजस्वी, कहा- दम है तो गिरफ्तार करे निकम्मी सरकार

  • Updated on 12/6/2020

नई दिल्ली/ टीम डिजिटल। बिहार के नेता प्रतिपक्ष राष्ट्रीय जनता दल के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने राज्य की नीतीश सरकार पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने किसान आंदोलन के मुद्दे पर एनडीए सरकार को निकम्मी और डरपोक करार देते हुए कहा कि राज्य सरकार ने किसानों के समर्थन में धरना देने को लेकर उनके समर्थकों के खिलाफ प्राथमिकी (FIR) दर्ज की है।

आंदोलन में शामिल किसानों के लिए दिलजीत दोसांझ ने दान किए 1 करोड़ रुपए, सरकार से की ये मांग

तेजस्वी ने कही खुद अपनी गिरफ्तारी देने की बात

तेजस्वी ने बिहार सरकार का नाम लेते हुए कहा कि बिहार की कायर और निक्कमी सरकार ने किसानों के पक्ष में आवाज उठाने के जुर्म में हर पर एफआईआर दर्ज की है। इसके साथ ही उन्होंने राज्य सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि दम हो तो गिरफ्तार करो, अगर नहीं करोगे तो इंतजार के बाद में खुद अपनी गिरफ्तारी दूंगा।


किसानों के लिए फांसी की सजा भी मंजूर- तेजस्वी यादव
तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर लिखा, 'डरपोक और बंधक मुख्यमंत्री की अगुवाई में चल रही बिहार की कायर और निक्कमी सरकार ने किसानों के पक्ष में आवाज उठाने के जुर्म में हम पर FIR दर्ज की है। दम है तो गिरफ्तार करो,अगर नहीं करोगे तो इंतजार बाद स्वयं गिरफ्तारी दूंगा। किसानों के लिए एफआईआर (FIR) क्या अगर फांसी भी देना है तो दे दिजीए। 

टिकरी बाॅर्डर: अधिकतर बुजुर्ग किसानों को ठंड व ब्लड प्रेशर की परेशानी

18 समर्थकों और 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज 
बता दें कि तेजस्वी यादव ने बीते शनिवार को अपने समर्थकों के साथ पटना के गांधी मैदान में नए कृषि कानूनों के खिलाफ धरना दिया था। इस धरने को लेकर पटना पुलिस ने तेजस्वी और उनके 18 समर्थकों और 500 अज्ञात लोगों के खिलाफ बिना इजाजत धरना देने का मामला दर्ज किया है। 

11वें दिन भी लगातार जारी है किसानों का आंदोलन
दरअसल, केंद्र सरकार (Central Govt) द्वारा लाए गए नए कृषि कानूनों (New Farm Bill) के विरोध में किसानों का आदोंलन आज 11वें दिन भी लगातार जारी है। ऐसे में सरकार और किसानों के बीच बैठकों का दौर भी जारी है। अब तक हुई पांच बैठकों के बाद भी समस्या जस-की-तस बनी हुई है। 

अगली बैठक अब 9 दिसंबर को
पंजाब व हरियाणा से आए किसान लगातार 11वें दिन से दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर डटे हुए हैं। किसान और सरकार के बीच 5वें दौर की बैठक समाप्त हो चुकी है। ये बैठक एक बार फिर बेनतीजा साबित रही। हालांकि सरकार और किसान संगठन से जुड़े नेताओं के बीच अगले दौर के बातचीत के लिये सहमति बन चुकी है। यह बैठक अब 9 दिसंबर को होगी। 

किसान आंदोलन पर योगी हुए सर्तक, अधिकारियों को दिया बात करने का आदेश

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कही ये बात
इससे पहले बैठक के दौरान किसानों ने साफ कर दिया था कि रोज-रोज हम सरकार के साथ चर्चा नहीं करेंगे। यहां तक कि किसान नेताओं ने कह दिया कि अगर आज कृषि कानून को लेकर लिखित आश्वासन नहीं मिलता तो गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेगे। बैठक से पहले बीते शनिवार को ही पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, रेल मंत्री पियुष गोयल और कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर के साथ बैठक हुई। उसके बाद केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने कहा कि उन्हें बहुत उम्मीद है कि किसान सकारात्मक सोचेंगे और अपना आंदोलन समाप्त करेंगे। 

 

ये भी पढ़ें...

 

Hindi News से जुड़े अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करें।हर पल अपडेट रहने के लिए NT APP डाउनलोड करें। ANDROID लिंक और iOS लिंक।

comments

.
.
.
.
.